SC-“उम्मीद है कि आप तुरंत का मतलब जानते होंगे”, कोर्ट ने शशिकला को तुरंत सरेंडर करने को कहा,

11
SHARE

शशिकला ने हेल्थ कारणों का हवाला देते हुए सरेंडर के लिए वक्त देने की अर्जी लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा, “हम फैसले में सबकुछ कह चुके हैं। उसमें से एक शब्द का भी हेरफेर नहीं होगा।” कोर्ट ने शशिकला को तुरंत सरेंडर करने को कहा। कोर्ट ने शशिकला की तरफ से पेश हुए वकील से कहा, “उम्मीद है कि आप तुरंत का मतलब जानते होंगे|”

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, “अपने भारी-भरकम फैसले में सारी बातें कही जा चुकी हैं। अब उसमें से एक शब्द भी नहीं बदला जाएगा।”
सीनियर एडवोकेट केटीएस तुलसी शशिकला की तरफ से कोर्ट में पेश हुए थे। उन्होंने सरेंडर के लिए कुछ वक्त दिए जाने की अपील की।कोर्ट ने बुधवार को तुरंत शब्द का इस्तेमाल किया।जस्टिस पीसी घोष ने शशिकला के वकील से कहा, “मुझे उम्मीद है कि आप तुरंत शब्द का मतलब समझते होंगे|”
सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को शशिकला को बेहिसाब प्रॉपर्टी (डिसप्रपोर्शनेट एसेट-DA) मामले में दोषी करार दिया था। कोर्ट ने पूरा फैसला महज आठ मिनट में सुना दिया। 21 साल से ये मामला चल रहा था। सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के फैसले को खारिज करते हुए ट्रायल कोर्ट के 4 साल की सजा के फैसले को बरकरार रखा। 10 करोड़ जुर्माना लगाया।
अब शशिकला (60) को ट्रायल कोर्ट में सरेंडर कर जेल जाना होगा। 6 महीने की सजा वे काट चुकी हैं। उन्हें साढ़े तीन साल जेल में गुजारने होंगे।फैसले के साथ ही शशिकला का पॉलिटिकल करियर एक तरह से खत्म हो गया है। 4 साल की सजा पूरी करने के बाद वे 6 साल तक चुनाव नहीं लड़ पाएंगी। इस तरह 10 साल तक चुनावी राजनीति से बाहर रहेंगी|