एसईई काउंसिलिंग 19 जून से, तीन अगस्त तक पांच चरणों में पूरी होगी

35
SHARE

इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेजों में दाखिले के लिए आयोजित हुई राज्य प्रवेश परीक्षा (एसईई) में सफल अभ्यर्थियों की प्रवेश काउंसिलिंग 19 जून से शुरू होगी। काउंसिलिंग पांच चरणों में तीन अगस्त तक चलेगी। प्रवेश काउंसिलिंग में हिस्सा लेने वाले सामान्य व ओबीसी अभ्यर्थियों को 20 हजार रुपये और एससी-एसटी के अभ्यर्थियों को 12 हजार रुपये जमा करने होंगे। यह एडवांस फीस दाखिला मिलने के बाद अभ्यर्थियों की कोर्स फीस में इंस्टीट्यूट को समायोजित करना होगा। एसईई का आयोजन डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) द्वारा करवाया गया है।

एकेटीयू के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने बताया कि काउंसिलिंग की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं और अभ्यर्थियों की सहूलियत का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। काउंसिलिंग में पहले चरण से लेकर अंतिम चरण तक एक रैंक से लेकर अंतिम रैंक तक के अभ्यर्थियों को आमंत्रित किया गया है।

पहले चरण की काउंसिलिंग 19 जून से शुरू होगी। अभ्यर्थी 19 जून से 24 जून तक अपना रजिस्ट्रेशन करवाएंगे, एडवांस फीस भरेंगे और आनलाइन डाक्यूमेंट अपलोड करेंगे। ऑनलाइन डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन 20 जून से 25 जून तक चलेगा। वहीं मनपसंद कोर्स व इंस्टीट्यूट की सीट के लिए अभ्यर्थी ऑनलाइन च्वाइस फिलिंग और च्वाइस लॉक 20 जून से 26 जून तक करेंगे। 29 जून को सीट एलाटमेंट लेटर जारी होगा। 29 जून से दो जुलाई तक अभ्यर्थी दाखिला लेने के लिए अपनी आनलाइन सहमति देंगे।

दूसरे चरण की काउंसिलिंग तीन जुलाई से शुरू होगी और दस जुलाई तक चलेगी। दूसरे चरण में पंजीकरण, एडवांस फीस व डाक्यूमेंट अपलोड करने का काम तीन जुलाई से पांच जुलाई तक चलेगा। दूसरे चरण में च्वाइस फिलिंग व च्वाइस लॉक करने की प्रक्रिया तीन जुलाई से सात जुलाई तक चलेगी। नौ जुलाई को सीट एलाटमेंट लेटर जारी होगा और दस जुलाई तक अभ्यर्थी दाखिले की सहमति देंगे।

तीसरे चरण में अभ्यर्थी 11 जुलाई से 13 जुलाई तक ऑनलाइन पंजीकरण, एडवांस फीस व डाक्यूमेंट अपलोड करेंगे। च्वाइस फिलिंग व च्वाइस लॉक का काम 11 जुलाई से 15 जुलाई तक होगा। सीट एलाटमेंट लेटर 16 जुलाई को जारी होगा और 17 जुलाई को अभ्यर्थी अपनी सहमति देंगे।

चा थे चरण की काउंसिलिंग के लिए अभ्यर्थी 19 जुलाई से 21 जुलाई तक ऑनलाइन पंजीकरण, एडवांस फीस व डाक्यूमेंट अपलोड का काम करेंगे। 19 जुलाई से 23 जुलाई तक च्वाइस फिलिंग व च्वाइस लॉक होगा। 24 जुलाई को अभ्यर्थी की सीट एलॉट होगी और 25 जुलाई को वह दाखिले की ऑनलाइन सहमति देगा।

पांचवें चरण में 31 जुलाई को ऑनलाइन पंजीकरण, एडवांस फीस व डाक्यूमेंट अपलोड का काम होगा। च्वाइस फिलिंग व च्वाइस लॉक की प्रक्रिया 31 जुलाई से एक अगस्त तक होगी। सीट एलाटमेंट लेटर दो अगस्त को जारी होगा और तीन अगस्त तक अभ्यर्थी ऑनलाइन दाखिले की सहमति देंगे। इसके बाद वह इंजीनियङ्क्षरग कॉलेज में जाकर दाखिला पांच अगस्त तक ले सकेंगे।

सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों की खाली सीटें इस बार भी स्पाट काउंसिलिंग से भरी जाएंगी। आठ अगस्त तक सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेजों की खाली सीटें ईआरपी पोर्टल पर अपलोड होंगी। नौ अगस्त को अभ्यर्थी ऑनलाइन पंजीकरण, एडवांस फीस व डाक्यूमेंट अपलोड करेगा। 10 अगस्त को वेरिफिकेशन होगा और 11 अगस्त को ऑनलाइन च्वाइस फिलिंग और च्वाइस लॉक की प्रक्रिया व 12 अगस्त को स्पॉट काउंसिलिंग का सीट एलाटमेंट और 13 अगस्त को अभ्यर्थी फीस जमा करेंगे। 14 अगस्त को खाली सीटों पर छूटे अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग और 15 अगस्त को इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में फीस जमा कर अभ्यर्थी सीट पक्की करेंगे।

काउंसिलिंग में रैंक और च्वाइस के अनुसार अभ्यर्थी हर चरण में अपनी सीट की फ्लोटिंग कर उसे अपग्रेड कर सकेगा। अभ्यर्थियों को एक सीट मिलने के बाद दूसरे अभ्यर्थियों द्वारा सीट छोडऩे पर अपनी सीट को अपग्रेड करने का मौका मिलेगा।

source-DJ