बालू खनन का विरोध, ग्रामीणों से हुई झड़प में पुलिस वाले घायल

70
SHARE

धनघटा थाना क्षेत्र के छपरा मगर्वी में बालू खनन के विरोध में उतरे ग्रामीणों और स्थानीय प्रशासन के बीच शुक्रवार की दोपहर हुजमकर संघर्ष हो गया। इस संघर्ष में इंस्पेक्टर धनघटा समेत तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए। ग्रामीणों के उग्र तेवर देख अधिकारी मौके से भाग खड़े हुए। धनघटा थाना क्षेत्र के छपरा मगर्वी में बालू खनन के लिए पट्टा हुआ तो ग्रामीणों ने गांव के अस्तित्व व बंधे को खतरा बताते हुए इस खनन को बन्द कराने की मांग तहसील प्रशासन से करने लगे। पूर्व में कई बार तहसील दिवस से लेकर अन्य मौकों पर भी ग्रामीणों ने पहुंच कर इसे रुकवाने की मांग की।शुक्रवार को बालू खनन के लिए पोकलैण्ड मशीन जा रही थी। इसकी जानकारी पर ग्रामीणों ने छपरा मगर्वी के पास पोकलैण्ड मशीन को रोक दिया। इसके साथ ही विवाद शुरू हो गया। विवाद की सूचना पर पहुंचे थानाध्यक्ष ने समझाने का प्रयास किया। मामला बढ़ने पर सीओ, एसडीएम, तहसीलदार व अन्य अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। देखते ही देखते ग्रामीण उग्र हो गए और पत्थरबाजी करने लगे। आक्रोशित ग्रामीणों ने अधिकारियों को दौड़ा लिया तो पुलिस कर्मियों ने मोर्चा सम्भाला। ग्रामीणों के पथराव में इंसपेक्टर धनघटा सबाहुद्दीन घायल हो गए। उनके अलावा करीब दो दर्जन से अधिक पुलिस कर्मी व ग्रामीण बुरी तरह से घायल हो गए। मौके पर इंस्पेक्टर महुली सहित जिले से भारी मात्रा में पुलिस कर्मी मौके पर पहुंच कर स्थिति को काबू करने में जुटे थे। मामले की सूचना पर पहुंचे एएसपी एके वर्मा ने घटना के बारे में जानकारी ली।