समीर सिंह ने रचा इतिहास, 100 दिन तक रोज 100 किमी की दौड़ लगाई

76
SHARE

रविवार को मध्यप्रदेश के समीर सिंह ने मुुंबई में इतिहास रच दिया। समीर सिंह दुनिया के इकलौते शख्स बन गए हैं, जिन्होंने 100 दिन तक रोज 100 किमी की दौड़ लगाई और कुल 10 हजार किमी दौड़े। 42 साल के समीर ने 29 अप्रैल से दौड़ना शुरू किया था। 100वें दिन, यानी 6 अगस्त तक वे रोज100 किमी की दौड़े। हालांकि, चोट के कारण समीर को एक दिन हॉस्पिटल में एडमिट होना पड़ा था। उस दिन 50 किमी ही दौड़ पाए थे।

समीर ने बताया, “मैं बचपन में मंदसौर के अपने कान्याखेड़ा गांव में दोस्तों को छेड़कर भागता था तो कोई पकड़ नहीं पाता था। तभी अंदाजा हो गया था कि दौड़ने के लिए पैदा हुआ हूं। 2004-05 में मुंबई मैराथन में पहली बार दौड़ा तो मैराथन शब्द सुना भी नहीं था। पता चला अच्छे पैसे मिलते हैं, तो मुंबई चला आया। 2008 में केन्या के रेसर को देखा तो लगा उन्हें हराना नामुमकिन है। तब रेस की दूरी बढ़ाने का फैसला किया। फिर अमेरिका की सेल्फ ट्रांसेंडेंस 3100 माइल रेस के बारे में पता चला। ट्रांसेंडेंस 3100 माइल रेस में 52 दिनों में 3100 मील, यानी 4988.9 किमी दौड़ते हैं। मैंने तय किया कि इससे दोगुना दौड़ना है। पिछले साल 100 दिन में 10 हजार किमी दौड़ने की प्लानिंग की और अपने गुरु इस्कॉन टेंपल के राधिका कन्हाई प्रभु जी के पास गया। उन्होंने वृंदावन जाने को कहा और बोले कि वहां रुकने-खाने का इंतजाम हो जाएगा।”

समीर सिंह ने कहा “मैं नवंबर 2016 में वृंदावन चला गया। शुरुआत 10 किमी दौड़कर शहर के राउंड से होती, फिर राधाकुंड तक 21 किमी, वहां से गोवर्धन का 24 किमी का राउंड और फिर 21 किमी की वापसी। यानी रोज 75 किमी की दौड़ होने लगी। पहले हफ्ते में दो-तीन दिन और बाद में हफ्ते में 6 दिन तक बढ़ा लिया। यह सिलसिला इस साल 22 मार्च तक चला। फिर मुंबई लौट आया। आखिरकार 29 अप्रैल को दौड़ शुरू कर दी और आज पूरी भी कर ली।”