अखिलेश बोले- अच्छे के नाम पर झाड़ू पकड़ा दिया, योग करा दिया और कुछ नहीं किया

33
SHARE

अखिलेश यादव थोड़ी देर में अपना घोषणा पत्र जारी करेंगे, जिसमें महिलाओं के लिए काफी कुछ होगा. समाजवादी कैंटीन, अलग-अलग शहरों में मेट्रो और एक्सप्रेस वे इस घोषणा पत्र का अहम हिस्सा हो सकता है. मुलायम सिंह इसमें शामिल नहीं हुए हैं. आजम खान मुलायम सिंह को मनाने के लिए उनके घर गए हैं. अखिलेश यादव की पत्नी और सांसद डिंपल यादव भी मंच पर मौजूद हैं.

इस मौके पर अखिलेश यादव ने कहा कि सरकार ने बहुत काम किया है. हम दोबारा सरकार बनाएंगे. मुझे सबसे कम उम्र में सीएम बनने का मौका मिला. समाजवादी सरकार पर लोगों को भरोसा है. हम अपने सिद्धांतों से नहीं हटेंगे.

अखिलेश ने कहा कि न जाने कौन कौन सी बातें न जाने कौन से सपने दिखाए जा रहे हैं. लोग समीकरण बना रहे हैं कि ये समीकरण बनेगा तो ये होगा. तमाम दल हैं जिनके पास बताने को कुछ नहीं है. जिन्होंने नारा दिया अच्छे दिन का, सबका साथ-सबका विकास, अब तो तीन साल हो गए. बजट में यूपी के लिए कुछ अच्छी चीज दे सकते हैं लेकिन देश की जनता पूछ रही है कि अच्छे दिन कहा हैं. विकास के बहाने झाड़ू पकड़ा दिया, योग करा दिया. यूपी का कोई जिला नहीं बचा जहां काम नहीं होगा. याद करो पांच साल पहले बिजली कितने जिलों, गांवों में आती थी. गांव में 16-18 घंटे बिजली पहुंचाई है.

समाजवादी कैंटीन की हो सकती है घोषणा
अखिलेश के इस घोषणा पत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस होगा, इंडस्ट्रियल हब या कॉरिडोर के साथ-साथ कई और एक्सप्रेस वे इसका हिस्सा हो सकते हैं. तमिलनाडु की अम्मा कैंटीन की तर्ज पर यूपी में समाजवादी कैंटीन भी इस घोषणापत्र में हो सकता है, साथ ही कई और पेंशन स्कीम और गरीबी या बेरोजगारी भत्ता भी इसमें शामिल होगा.

मुलायम सिंह के शामिल होने पर संशय
इस घोषणा पत्र में उनका कई शहरों में मेट्रो का भी वादा होगा, जिसमें आगरा, वाराणसी, इलाहाबाद, गोरखपुर सरीखे शहर शामिल होंगे. महिलाओं के लिए कई नई स्कीमों का ऐलान होगा.  मुलायम सिंह के शामिल होने पर संशय है, क्योंकि वो अपने लोगों के टिकट काटे जाने से नाराज बताए जा रहे हैं.