महेंद्र सिंह धोनी ने राइज़िंग पुणे सुपरजायंट्स टीम की कप्तानी छोड़ने का फ़ैसला किया

42
SHARE

महेंद्र सिंह धोनी ने राइज़िंग पुणे सुपरजायंट्स टीम की कप्तानी छोड़ने का फ़ैसला किया है| हाल ही में उन्होंने भारत की वनडे और टी-20 टीम की कप्तानी से इस्तीफ़ा दे दिया था, जिसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ़ वनडे और टी-20 सीरीज़ में विराट कोहली तीनों फ़ॉर्मेट के कप्तान बना दि गए थे| गौरतलब है कि यह सीज़न इस फ़्रेंचाइज़ी का अंतिम सीज़न भी साबित हो सकता है|पुणे टीम के पास कप्तान के रूप में कई विकल्प मौजदू हैं| अब देखने वाली बात होगी कि वह किसी कप्तान चुनती है| हालांकि ऑस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ के कप्तान बनने की संभावनाएं जताई जा रही हैं|

चेन्नई सुपरकिंग्स और राजस्थान रॉयल्स के सस्पेंड होने के बाद राइज़िंग पुणे सुपरजायंट्स और गुजरात लायन्स 2 सीज़न के लिए आईपीएल में जुड़ी थीं| पुणे फ़्रेंचाइज़ी में इस सीज़न धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद विकल्पों पर नज़र डालें तो स्टीव स्मिथ के तौर पर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का विकल्प है तो फ़ाफ़ डु प्लेसिस के तौर पर दक्षिण अफ़्रीकी कप्तान का विकल्प भी मौजूद है, वहीं भारतीय खिलाड़ियों में अजिंक्य रहाणे और आर. अश्विन जैसे विकल्प भी टीम के पास मौजूद हैं, लेकिन स्टीव स्मिथ इस रेस में सबसे आगे हैं और उन्हें नया कप्तान नियुक्त किया जा सकता है|सोमवार को बेंगलुरु में होने वाले आईपीएल ऑक्शन में नए कप्तान की घोषणा की जा  सकती है| ऑक्शन के लिए फ़िलहाल पुणे के पास 17.50 करोड़ का बैलेंस पर्स है| टीम में फ़िलहाल 17 खिलाड़ी हैं जिसका मतलब ये है कि 10 खिलाड़ी और टीम खरीद सकती है जिसमें 4 विदेशी खिलाड़ी शामिल किए जा सकते हैं|

महेंद्र सिंह धोनी पहली बार किसी आईपीएल में कप्तान के तौर पर नहीं उतरेंगे| चेन्न्‌ई के साथ पहले 8 सीज़न में धोनी ने हर बार अपनी टीम को प्लेऑफ़ तक पहुंचाया, जिसमें 2 बार चेन्नई की टीम चैंपियन भी बनी| 2016 आईपीएल में अपनी नई टीम पुणे सुपरजायंट्स के साथ पहली बार धोनी की टीम अंतिम चार में शामिल नहीं हो सकी|और धोनी की स्पेशल बल्लेबाज़ी की बदौलत ही टीम अंतिम स्थान पर रहने से भी बची थी|किंग्स इलेवन पंजाब और पुणे सुपरजायंट्स के बीच अंतिम लीग मैच के ज़रिए 8वें स्थान का फ़ैसला होना था| मैच की अंतिम 2 गेंद पर पुणे को जीत के लिए 12 रनों की ज़रूरत थी और धोनी ने 2 छक्के लगाकर पुणे को मैच जितवाया और अंतिम स्थान पर होने से भी बचा लिया था|