श्रमिकों के बच्चों के लिए महानगरों में आवासीय स्कूल बनेंगे: CM

22
SHARE

योगी सरकार श्रमिकों के बच्चों के लिए आवासीय स्कूल खोलेने की तैयारी में है। गोरखपुर में श्रमिकों के सामूहिक विवाह समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज कहा कि श्रमिकों के उन बच्चों के लिए प्रदेश सरकार महानगरों में आवासीय स्कूल बनाएगी, जिनकी रूचि पढ़ाई से ज्यादा दूसरे कार्यों में है। इन स्कूलों में श्रमिकों के बच्चों को कौशल विकास के साथ खेलकूद और अन्य विधाओं में पारंगत किया जाएगा।

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय परिसर में कन्या विवाह सहायता योजना के तहत आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में पहुंचे मुख्यमंत्री ने शादी के बन्धन में वैदिक परंपरा से बंधे 603, बौद्ध परंपरा से शादी करने वाले 50 और इस्लाम पद्धति के साथ निकाह करने वाले 25 जोड़ों को शुभकामना देने के साथ प्रदेश और केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का लाभ दिलाने का भरोसा दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार बगैर किसी भेदभाव के सभी का विकास करने में लगी है। विकास योजनाओं का शिलान्यास करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन योजनाओं का शिलान्यास आज हो रहा है या इसके पहले जिनका हुआ है वह समय से पूर्ण हो इसके लिए नियमित रूप से निगरानी की जरूरत है। यह कार्य संबंधित विभाग के अधिकारी और मंत्रालयों की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास योजनाओं का लाभ पात्रों को मिले यह समाज का भी दायित्व है।इसके लिए इसका प्रचार प्रसार होना चाहिए। सामूहिक विवाह योजना के दौरान शादी के बंधन में बंधे जोड़ों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सभी सौभाग्यशाली हैं कि इतनी बड़ी तादाद में गणमान्य व्यक्ति आप को आशीर्वाद देने के लिए यहां पहुंचे हैं, यह एक दुर्लभ क्षण है। उन्होंने कहा कि समय पर पंजीकरण आवश्यक है सभी श्रमिकों को श्रम विभाग में अपना पंजीकरण अवश्य करा लेना चाहिए, जिससे कि शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उन तक पहुंच सके। इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रदेश और केंद्र सरकार की तरफ से चल रही तमाम योजनाओं को भी गिनाया।

श्रम विभाग के निर्माण श्रमिकों की पुत्रियों के लिए विश्वविद्यालय प्रांगण में आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में 673 दूल्हों की सांकेतिक बरात निकाली गई। श्रम विभाग व जिला के उच्च पदस्थ अधिकारियों के नेतृत्व में गाजे-बाजे के साथ निकली बरात में उत्सव के साथ शालीनता भी अपनी गरिमा में उपस्थित थी। बरात पंडाल के दक्षिण तरफ से निकलकर क्रीड़ा परिसर के पश्चिम से घूमते हुए उत्तर तरफ से पंडाल में प्रवेश की। इसके बाद वैदिक मंत्रोच्चार के बीच द्वारपूजा की गई। तत्पश्चात वैवाहिक कार्यक्रम शुरू हुए। कुल 120 पुरोहितों की देखरेख में आयोजित कार्यक्रम में उत्सव व उल्लास का माहौल रहा। छह लाइन में दूल्हा-दुल्हन बैठे थे। सभी जोड़ों के सामने कलश व हवन कुंड रखे हुए थे।

मंच से प्रधान पुरोहितों का दल वैदिक मंत्रोच्चार कर रहा था और अन्य पुरोहित पंडाल में दूल्हा-दुल्हन के बीच घूम-घूमकर उन्हें सही विधि से पूजन व अन्य कार्य समझा रहे थे। पंडाल के सामने दायीं तरफ देवरिया, महराजगंज व कुशीनगर के जोड़ों की लाइन थी, बायीं तरफ तीन लाइन गोरखपुर के जोड़ों की रही। पंडाल के दोनों तरफ कुर्सियों पर वर-वधू के परिजन बैठे रहे। विवाह में एक तरफ वैदिक मंत्रोच्चार तो दूसरी तरफ मंगल गीत गूंज रहे हैं। वहीं थोड़ी दूर पर 24 मुस्लिम जोड़ों के निकाह के लिए अलग पंडाल बनाया गया था, जिसमें शहर-ए-काजी अपने सहयोगी के साथ निकाह पढ़े और जोड़ों ने एक-दूसरे का साथ कुबूल किया।

श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा शादी के जोड़े में बंधने वाले यह नव दंपति बेहद सौभाग्यशाली हैं कि उनकी शादी में खुद प्रदेश के मुख्यमंत्री ही नहीं पूरा सरकारी अमला शामिल हो रहा है। संत स्वामी प्रसाद मौर्य ने गरीबों के लिए श्रम विभाग की तरफ से चल रही योजनाओं को गिनाया। उन्होंने कहा कि मजदूरों के लिए आवास, भोजन, शौचालय, बीमारी और बिजली के लिए जो योजनाएं इस भाजपा सरकार ने शुरू की हैं, आजाद भारत में आज तक ऐसा किसी सरकार ने नहीं किया। आज मजदुर, गरीब भी सिर उठाकर स्वाभिमान के साथ समाज में खड़ा हो पा रहा है। सामूहिक विवाह के इस निर्णय से समाज का अंतिम व्यक्ति लाभान्वित हो रहा है।

उत्तर प्रदेश भवन एवं सन्निर्माण कल्याणपुर बोर्ड के कन्या विवाह सहायता योजना के अंतर्गत आयोजित सामूहिक विवाह समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 5834.56 लाख के 46 कार्यों का शिलान्यास किया। इसमें नगर निगम के 10 कार्य 1721.73 लाख रूपये जबकि लोक निर्माण विभाग के 4113.15 लाख रुपए के 36 कार्य शामिल हैं। लोक निर्माण विभाग के कार्य सहजनवा विधानसभा खजनी विधानसभा और चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र में होंगे।

समारोह में श्रम सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, राज्यमंत्री मनोहर लाल कोरी, सिंचाई मंत्री व गोरखपुर के प्रभारी मंत्री धर्मपाल सिंह, कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, राज्य मंत्री जय प्रकाश निषाद, बांसगांव सांसद कमलेश पासवान, महाराजगंज सांसद पंकज चौधरी, विधायक शीतल पांडे, फतेह बहादुर सिंह, विपिन सिंह, संगीता यादव, जन्मेजय सिंह, राधा मोहन दास अग्रवाल, महेंद्र पाल सिंह, संत प्रसाद, अमनमणि त्रिपाठी, एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह, महापौर सीताराम जायसवाल, भाजपा जिला अध्यक्ष जनार्दन तिवारी, क्षेत्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह, महानगर अध्यक्ष राहुल श्रीवास्तव, वरिष्ठ भाजपा नेता उपेंद्र दत्त शुक्ल, प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह आदि मौजूद रहे।

source- Dainik Jagran