मेरठ में हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

68
SHARE

मेरठ में गोकलपुर के सांप्रदायिक झगड़े में पुलिस ने हिंदू युवा वाहिनी के सात पदाधिकारियों को नामजद करते हुए 15 से 20 अज्ञात युवकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। इससे पहले भी पुलिस तीन मुकदमे दर्ज कर चुकी है। वहीं, घटना के चौथे दिन तनावपूर्ण शांति रही। इंस्पेक्टर फोर्स के साथ गांव में गश्त करते रहे।

17 जून को संप्रदाय विशेष की किशोरी ने गांव के ही तीन युवकों पर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया था। परिजनों समेत सैकड़ों ग्रामीणों ने बुधवार रात थाने का घेराव करते हुए मुकदमा दर्ज करने की मांग रखी। दो संप्रदाय से जुड़ा मामला होने के कारण पुलिस ने सुमित, जुगल व कालू के विरुद्ध सामूहिक दुष्कर्म, गाली-गलौज, मारपीट व जान से मारने की धमकी संबंधी धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

अगले दिन आरोपी पक्ष ने पुलिस पर फर्जी मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाते हुए विरोध किया। 9 जून की सुबह धर्मस्थल में प्रतिमा क्षतिग्रस्त मिलने पर गांव में तनाव फैल गया था। पुलिस के मुताबिक शुक्रवार शाम हिंदू युवा वाहिनी के दर्जनों कार्यकर्ता मंदिर पहुंचे। यहां से लौटते वक्त बाइक सवार कार्यकर्ताओं ने एक धर्मस्थल के बाहर पहुंचकर नारेबाजी की।

इस पर संप्रदाय विशेष के लोगों ने कार्यकर्ताओं पर हमला बोल दिया। तीन कार्यकर्ता घायल हो गए थे, जिन्हें मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। संप्रदाय विशेष के हमलावरों पर कार्रवाई की मांग को लेकर मेडिकल में हंगामा किया गया। संप्रदाय विशेष के लोगों ने भी हमला करने का आरोप लगाया।

शनिवार को पुलिस ने अमित की ओर से संप्रदाय विशेष के 22 लोगों पर नामजद मुकदमा करते हुए सैकड़ों को अज्ञात में आरोपी बनाया। इसी घटना में अधिकारियों के आदेश पर पुलिस ने हसनपुर चौकी इंचार्ज प्रमोद कुमार की ओर से हिंदू युवा वाहिनी के सात पदाधिकारियों के अलावा 15 से 20 अज्ञात युवकों पर गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की है।