जमीन बेचने से मना करने पर शराबी बेटे ने ले ली माँ की जान

64
SHARE

निगोहां के रामपुर गांव में शराबी बेटे ने जमीन बेचने माना करने पर मां की पिटाई की और फिर गला दबाकर हत्या कर दी। शनिवार रात हुए इस घटना की जानकारी हत्या के 12 घंटे बाद पुलिस को हुई, जिसके बाद अधिकारी मौके पर पहुंचे।

एसओ निगोहां चैंपियन लाल के मुताबिक आरोपित फरार है। रिपोर्ट दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। निगोहां के रामपुर गांव निवासी नन्हकई (50) इकलौते बेटे नीरज के साथ रहती थीं। नन्हकई की बेटी सरोज कुमारी के मुताबिक नीरज (22) शनिवार को निगोहां कस्बे में मेला देखने गया था। इस दौरान उसने शराब पी थी। शाम को घर लौटने पर उसने नन्हकई पर खेत बेचने का दबाव बनाया। इस पर नन्हकई ने जमीन बेचने से मना कर दिया।

नशे में धुत नीरज को यह बात नागवार लगी। पुलिस के मुताबिक नीरज ने नन्हकई की पिटाई कर दी। नन्हकई के सिर पर गंभीर चोट के निशान मिले हैं। आरोप है कि पिटाई के बाद आरोपित ने नन्हकई की गला दबाकर हत्या कर दी।

सरोज के मुताबिक नीरज शराब पीने का आदी था। वह कई माह से मां पर जमीन बेचने का दबाव बना रहा था। पूर्व में भी नन्हकई ने नीरज से जमीन नहीं बेचने की बात कही थी, जिससे वह अक्सर उनसे लड़ाई करता था। इस बात की जानकारी परिवारीजनों और ग्रामीणों को थी।

पुलिस का कहना है कि नीरज ने हत्या के बाद पड़ोसियों से नन्हकई के नाले में गिरने की बात कही थी। आरोपित कुछ ग्रामीणों को बुलाकर लाया था और उनसे कहा कि कुछ देर पहले मां नाले में गिर गई थी, उसे चोट लगी है। ग्रामीण जब नीरज के घर पहुंचे तो नन्हकई की मौत हो गई थी।

आरोपित ने हत्या को हादसा बताने के लिए कुछ दवा भी पास में रखी थी। नन्हकई की मौत के बाद ग्रामीणों ने उनकी बेटी सरोज और अन्य लोगों को इसकी सूचना दी और रविवार सुबह में अंतिम संस्कार करने की बात कहकर अपने-अपने घर चले गए। इसके बाद आरोपित भी मां के शव के साथ मकान में सो गया।

रविवार सुबह जब सरोज और अन्य रिश्तेदार घर पहुंचे तो नन्हकई के सिर और गले पर गंभीर चोट के निशान देखकर उन्हें संदेह हुआ। जिसके बाद परिवारीजनों ने गांव के चौकीदार और फिर पुलिस को सूचना दी। हत्या के करीब 12 घंटे बाद जब पुलिस पहुंची तो नीरज वहां से भाग निकला।