राजनाथ :नहीं सुधरा PAK तो शायद उसके 10 टुकड़े हो जाएं

7
SHARE

आज जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गृह मंत्री राजनाथ सिंह शहीदी दिवस कार्यक्रम के मौके पर हैं। इस दौरान कठुआ में पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि भले ही पाकिस्तान ने चार-चार बार हिंदुस्तान पर हमला किया हो लेकिन हर बार भारत के जवानों ने उनके दांत खट्टे कर दिए हैं। इतना ही नहीं राजनाथ ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि अभी तो पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए हैं अगर वो (पाकिस्तान) अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो शायद उसके 10 टुकड़े हो जाएं|

अपने संबोधन में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पूर्व प्रधानंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जिक्र करते हुए कहा कि कारगील की लड़ाई के बाद भी अटल जी ने पाक की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया था। लेकिन पाक ने उसके बदले क्या किया? सीजफायर का उल्लंघन।राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि कभी ना कभी पाकिस्तान भी हमारे परिवार का अंग रहा है। आज भी हम उसे अलग नहीं मानते। उनके ऊपर हम गोली नहीं चलाना चाहते। उन्होंने कहा कि भले ही पाकिस्तान ने भारत पर 4-4 बार आक्रमण किया हो, पर यहां के जवानों ने उनके दांत खट्टे कर दिये हैं|

राजनाथ ने कहा कि पाकिस्तान को इस हकीकत को समझना चाहिए कि आतंकवाद बहादुर लोगों का हथियार नहीं हुआ करता है। ये कायरों का हथियार होता है। करगील का जिक्र करते हुए गृहमंत्री ने कहा कि कारगील युद्ध में भी पाकिस्तान को शिकस्त झेलनी पड़ी थी। पाकिस्तान अब समझ गया है कि इंडिया को सीधे पराजित नहीं कर सकता। इसलिए आतंकवाद के सहारे वो चाहते हैं कि हम जम्मू और कश्मीर को भारत से अलग कर देंगे। आतंकवाद बहादुरों का नहीं कायरों का हथियार होता है। उन्होंने कहा कि अभी तो पाकिस्तान के दो टुकड़े हुए हैं, अगर वो अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो शायद उसके 10 टुकड़े हो जाएं|

इससे पहले 12 नवंबर को एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान और आतंकवाद पर कुछ अलग ही अंदाज में टिप्पणी की थी। भोजपुरी अध्ययन शोध केंद्र के कार्यक्रम में बोल रहे राजनाथ सिंह ने कहा था, ‘हमनी के ना आटा चाही, ना टाटा चाही, हमनी के पाकिस्तान में सन्नाटा चाही|’