राहुल गांधी ट्रेजडी टूरिस्ट, जहां ट्रेजडी होती है जरूर जाते हैं: ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा

19
SHARE

श्रीकांत शर्मा ने राहुल गांधी को ट्रेजडी टूरिस्ट बताते हुए कहा कि राहुल गांधी एंड कंपनी फ्रस्टेशन में है। जहां ट्रेजडी होती है वह जरूर जाते हैं।

श्रीकांत शर्मा ने शनिवार को शहर कोतवाली पहुंचे। यहां पहुंचकर उन्होंने सबसे पहले रजिस्टर चेक किए। हवालात का निरीक्षण किया, गंदगी मिलने पर नाराजगी जाहिर की। इसके बाद माल खाना, पुलिस आवास भी चेक किए। कोतवाली के पीछे बने आवासों के पास गंदगी मिली, जिसे उन्होंने तत्काल साफ कराने के निर्देश दिए।

महिला हवालात को मालखाना बनाए जाने पर उन्होंने आपत्ति जताई। इसके बाद वह सीओ सिटी के दफ्तर पहुंचे। उन्होंने लंबित विवेचनाओं को जल्द पूरा करने के साथ ही सीओ के पेशी रूम का भी निरीक्षण किया। करीब 20 मिनट श्रीकांत शर्मा ने यहां रिकॉर्ड्स चेक किए।

मंत्री ने सीओ जगदीश सिंह से पूछा, ”आप यहां कितने समय से हैं? इतना समय होने के बावजूद बदमाशों पर आपका शिकंजा नहीं है? उन्होंने हिदायत दी कि अपने काम में सुधार लाइए, वरना कार्यवाही तय समझो। पुलिस कर्मियों को चेताया कि यदि शहरी बदमाशों पर कार्यवाही होती तो दो सर्राफों की हत्या नहीं होती। अपराध रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही की जानी सुनिश्चित करें।

शर्मा ने एसएसपी विनोद कुमार मिश्र से कहा कि हर हाल में कानून-व्यवस्था सुधरनी चाहिए। अमर कॉलोनी डकैती मामले के खुलासे के साथ-साथ 15 मई को शहर में हुई दो सर्राफों की हत्या के मामले में फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी और माल को बरामद करने पर जोर दिया। थानों में ईमानदार अधिकारियों को कमान सौंपने की बात कही। कहा कि रात में गश्त बढ़ाई जाए, व्यापारिक व व्यावसायिक गतिविधियों वाले बाजारों में विशेष सुरक्षा बरती जाए, ताकि आगे कोई घटना न हो सके।

कोतवाली के बाद श्रीकांत शर्मा का काफिला डि‍स्ट्रि‍क्ट हॉस्पिटल पहुंचा। शर्मा सीधे इमरजेंसी रूम पहुंचे, यहां डस्टबिन में पड़े मेडीकल वेस्ट को देखकर नाराजगी जताते हुए डॉ. चंद्रा को कड़ी फटकार लगाई। अस्पताल परिसर में गंद्गी के ढेर और दीवारें गंदी देखकर मंत्री ने सीएमएस डॉ. अमिताभ पांडेय को जमकर फटकार लगाई।

इसके बाद वह पूछताछ केंद्र पहुंचे, जो खाली पड़ा था। मेडि‍सिन रूम में पहुंचने में शर्मा ने मरीजों का हाल-चाल जाना। मरीजों ने दवा न मिलने की शिकायत की तो मंत्री का पारा हाई हो गया। एक मरीज ने बताया कि उसे डॉक्टर ने दवाईयां और एक्स-रे बाहर कराने को कहा है। यह सुनकर उन्होंने सीएमओ को बुलाने के निर्देश दिए और सीएमएस को सख्ती से कहा कि बाहर से न तो अल्ट्रासाउंड होगा और न ही दवाई लिखी जाए। सभी जांचें अस्पताल में ही कराई जाएं। इसके लिए संबंधित को तत्काल निर्देशित करने के आदेश दिए।

मथुरा-वृंदावन विकास प्राधिकरण द्वारा मथुरा और वृंदावन क्षेत्र में कराए जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा की। वृंदावन के 100 बेड अस्पताल के पास बन रही पार्किंग, छटीकरा की रूकमणि पार्किंग के साथ-साथ अवैध कॉलोनियों पर की गई कार्रवाई जानी इसके बाद ही विश्राम घाट से यमुना पार तक लक्ष्मण झूला की तर्ज पर बनने वाले पुल का प्रस्ताव भी देखा। इस दौरान इस पुल का आर्किटेक्ट मयंक अग्रवाल ने प्रेजेंटेशन भी दी।