राजा भैया ने किया नई पार्टी का ऐलान, एससी-एसटी ऐक्ट और प्रमोशन में आरक्षण का करेंगे विरोध

59
SHARE

यूपी में प्रतापगढ़ के कुंडा से निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया ने नई राजनीतिक पार्टी के गठन का ऐलान कर दिया है। लखनऊ में शुक्रवार को राजा भैया ने मीडिया से कहा कि उनके समर्थकों में से 80 फीसदी लोग चाहते थे कि नई पार्टी बनाई जाए इसीलिए उन्होंने यह फैसला किया है। राजा भैया ने कहा कि उनकी पार्टी एससी-एसटी एक्ट और प्रमोशन में आरक्षण का विरोध करेगी।
रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की पार्टी का नाम अभी तय नहीं है, लेकिन उनकी पार्टी में जनसत्ता नाम जरूर रहेगा। उनकी तरफ से चुनाव आयोग को तीन नाम भेजे गए हैं। चर्चा है कि राजा भैया अपने दल का नाम जनसत्ता पार्टी रखेंगे।
राजा भैया ने बताया कि लोकसभा चुनाव के दौरान एससी-एसटी ऐक्ट और आरक्षण में प्रमोशन का विरोध उनकी पार्टी का मुख्य मुद्दा होगा। वह 30 नवम्बर को लखनऊ के रमाबाई मैदान में रैली आयोजित करेंगे। माना जा रहा है कि इसी रैली के जरिए राजा भैया 2019 लोकसभा चुनाव का आगाज भी करेंगे। 30 नवंबर को ही राजनीति में राजा भैया के 30 साल पूरे हो रहे हैं।
राजा भैया ने अपनी पार्टी का मुख्य एजेंडा एससी-एसटी ऐक्ट और आरक्षण में प्रमोशन का विरोध बता दिया है जिससे साफ है कि वह अगड़ी जातियों को लामबंद करके चलने वाले हैं। इसके अलावा वह बीजेपी से नाराज वोट बैंक को थाम सकते हैं, वहीं ऐसे नेताओं को भी लामबंद कर सकते हैं जो एसपी और बीएसपी से नाराज चल रहे हैं। चुनाव के बाद वह सीधे या फिर अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी के साथ जा सकते हैं।