यूपी में कांग्रेस के लिए कैंपेन नहीं करेंगी प्रियंका? पार्टी नेताआें-PK में नहीं बन रही बात

11
SHARE
यूपी चुनाव में प्रियंका गांधी के 3 महीने का और सोनिया गांधी के 20 दिन का प्रस्‍तावित कैंपेन कैंसिल हो सकता है। इस जानकारी के बाद से पार्टी में अगले स्‍टेप के लिए काफी असमंजस की स्थिति हो गई है। पार्टी नेताओं में इस बात को लेकर असमंजस है कि जिस तरह की गति कांग्रेस को राहुल गांधी की 26 दिनों की ‘दिल्‍ली से देवरिया’ यात्रा के दौरान मिली थी, उसे दोबारा वापस कैसे पाया जाए। इस बीच खबर ये भी है कि प्रशांत किशोर की कांग्रेस से छुट्टी हो सकती है। बताया जा रहा है कि यूपी और पंजाब के नेता प्रशांत से नाराज हैं। इसे लेकर सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति की मीटिंग होनी है। इसमें कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है।
– जानकारी के मुताबिक, राहुल की यात्रा के बाद प्रियंका और सोनिया के कैंपेन का प्‍लान प्रशांत किशोर ने ही बनाया था।
– हाल ही में प्रियंका गांधी ने यूपी कैंपेन को लेकर दिल्‍ली में एक रिव्‍यू मीटिंग भी की थी।
– ये पहला मौका था, जब ऑफिशियली उन्‍होंने प्रदेश के नेताओं से मुलाकात की थी।
– इसके बाद लगा था कि रायबरेली और अमेठी के बाहर भी वे पार्टी के लिए कैंपेनिंग करेंगी, लेकिन राहुल को बढ़ाने की वजह से कांग्रेस प्रियंका को सामने नहीं लाना चाहती है।
पार्टी के नेताओं और प्रशांत किशोर में भी अंतर
– पार्टी से जुड़े एक मैनेजर ने बताया, ’10 दिनों से पार्टी में काफी असमंजस की स्थिति है।’
– ‘किस तरह से राहुल और सोनिया के रोडशोज को मैनेज करना है।’
– ‘पार्टी के नेताओं और कैंपेन प्‍लानर प्रशांत किशोर की सोच में भी काफी अंतर है।’
अपर कास्‍ट को लुभाने के लिए शीला को बनाया सीएम कैंडिडेट
– जानकारी के मुताबिक, पार्टी में होने वाले ‘ब्राह्मण कन्‍वेंशन्‍स’ जैसे आउटरीच प्रोग्राम्‍स को लेकर भी अनिश्‍चितता है।’
– ‘इसे भी दो मीटिंग्‍स के बाद होल्‍ड कर दिया गया है।’
– ‘ऐसा सोचा गया था कि अपर कास्‍ट को लुभाने के लिए ये एक टूल हो सकता है।’
– ‘इसकी शुरुआत तभी हो गई, जब शीला दीक्षित को सीएम कैंडिडेट के रूप में प्रोजेक्‍ट किया गया।’
क्‍या कहना है बीजेपी का?
इस मामले में बीजेपी यूपी चीफ केशव प्रसाद मौर्या ने कहा, ‘क्षेत्रीय पार्टियां पूरी तरह से खत्‍म होने के कगार पर हैं।’
– ‘यूपी में कांग्रेस का नामोनिशान नहीं है। ऐसे में कोई भी कांग्रेस को उबार नहीं सकता है।’
– ‘राहुल गांधी सिर्फ यूपी में चुनाव जीतने के सपने देखते हैं। इस बार बीजेपी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी।’