विवेक तिवारी हत्याकांड में चश्मदीद सना के साथ होगा घटनास्थल का निरीक्षण

सीएम योगी आदित्यनाथ ने फोन पर पीड़ित परिवार से बात की

60
SHARE

लखनऊ में एप्पल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की हत्या ने पूरे प्रदेश के साथ ही उद्योग जगत को भी हिलाकर रख दिया है। इस घटना को उत्तर प्रदेश में निवेशकों के नजरिए ये अच्छा नहीं माना जा रहा है, इसीलिए अब पुलिस प्रशासन इस घटना में एक-एक बात की पड़ताल करने और दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के लिए ज्यादा से ज्यादा सबूत जुटाने में लगा हुआ है।

इस मामले की जांच एसआईटी ने शुरू कर दी है। आईजी रेंज सुजीत पांडेय ने कहा है कि जल्दी ही घटना स्थल पर विवेक की सहकर्मी रही और घटना की चश्मदीद सना खान को लेकर दोबारा निरीक्षण किया जाएगा। क्राइम सीन का रीक्रियेशन भी किया जाएगा ताकि सभी बातें और स्पष्ट हो सकें।

एडीजी राजीव कृष्ण और लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने रविवार को विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी और परिजनों से करीब घंटे भर बंद कमरे में मुलाकात की थी। पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया गया है। एडीजी ने कहा है कि मामले में दोबारा एफआईआर के बाद दोषी पुलिसकर्मियों को सख्त से सख्त सजा दिलाई जाएगी।

बताते चलें कि मृतक विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी की तहरीर पर पुलिस ने नई एफआईआर भी दर्ज कर ली है, इसमें दोनों आरोपी सिपाहियों प्रशांत चौधरी और संदीप कुमार को नामजद किया गया है। कल्पना ने अपनी शिकायत में पूरा घटनाक्रम बताया है कि विवेक तिवारी अपनी सहकर्मी को देर रात छोड़ने जा रहे थे, तभी दो सिपाहियों ने कार को रोका लेकिन साथ में महिला होने से कार नहीं रोकी तो आगे के शीशे से विवेक को गोली मार दी गई। इससे पहले सना खान की तहरीर पर दोनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।


इससे पहले कड़ी सुरक्षा के बीच रविवार सुबह विवेक तिवारी का अंतिम संस्कार कर दिया गया, उनके बड़े भाई राजेश तिवारी ने मुखाग्नि दी। इस दौरान राज्य के दो मंत्री बृजेश पाठर और आशुतोष भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी रविवार को पीडित परिवार से फोन पर बात की और संवेदना जताई। उन्होंने सरकार की तरफ से हर तरह की मदद का भरोसा भी दिलाया।