पुलिस ने आगरा में छह लोगों को हिरासत में लिया, सैकड़ों लोगों से कर चुके है ठगी

106
SHARE

इंदौर की महिला की शिकायत पर पुलिस ने आगरा में हरीपर्वत क्षेत्र में बने ऑफिस से लकी ड्रॉ के नाम पर लोगों से ठगी कर छह कर्मचारियों को हिरासत में लिया है। आशंका है कि यह गिरोह सैकड़ों लोगों को शिकार बना चुका है|

इंदौर निवासी छाया पाटिल ने पुलिस कंट्रोल रूम में ठगी की शिकायत की। पुलिस ने शनिवार को ऑफिस में छापा मारा। यहां चार महिला और दो पुरुष कर्मचारी काम करते मिले। पुलिस ने सभी को हिरासत में लेकर ऑफिस से कुछ दस्तावेज और लैपटाप भी कब्जे में लिए हैं। पकड़े गए युवक और युवतियों का कहना था कि उन्हें पांच से आठ हजार रुपये पर नौकरी मिली थी। पुलिस ने दिल्ली में रहने वाले सरगना को पूछताछ के लिए बुलाया है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि यह ठगी का बड़ा गिरोह है। ऑफिस से एक लाख मोबाइल नंबर लिखी डायरी मिली है। इससे ही लोगों को कॉल कर जाल में फंसाया जाता था|

ठग गिरोह के ऑफिस से मिली डायरी में लिखे गए नंबर राजस्थान, मध्यप्रदेश और बिहार के हैं। आशंका जताई जा रही है कि ये केवल पड़ोसी राज्यों के लोगों को जाल में फंसाकर ठगी करते थे।छाया ने बताया कि पंद्रह दिन पहले उनके मोबाइल पर कॉल आई। कॉल करने वाले ने कहा कि वह स्नैप डील से बोल रहा है। आपका लकी ड्रा निकला है। उसने लकी ड्रा में चार विकल्प दिए। फ्रीज, एलसीडी और मोबाइल में से छाया ने आइफोन चुना। कॉल करने वाले के कहने पर उन्होंने स्नैप डील पर चार हजार रुपये का सामान पसंद कर बुक करा दिया|

अंजान कॉलर ने महिला से डेविट कार्ड का सीवीवी नंबर और वन टाइम पासवर्ड भी पूछ लिया और खाते से चार हजार रुपये पार कर लिए। छाया के कॉल करने पर उसने कहा कि अभी उन्हें दस हजार रुपये और जमा करने होंगे तब आइफोन उनके घर पहुंचेगा। वे समझ गई और डील निरस्त कर चार हजार रुपये वापस मांगे। जब रुपये वापस नहीं मिले तो उन्होंने पुलिस कंट्रोल रूम में शिकायत की|