पीएम मोदी ने वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर की आधारशिला रखी, सपा पर साधा निशाना, अखिलेश का पलटवार

27
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर की आधारशिला रखी। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए पीएम ने पिछली सरकारों पर निशाना भी साधा। उन्होंने कहा कि भोले बाबा की पहले किसी ने कोई चिंता नहीं की। वह वर्षों से दीवारों में जकड़े हुए थे। यूपी की पिछली सरकार के समय असहयोग का माहौल था, नहीं तो यह काम पहले ही शुरू हो जाता। अगर तीन साल पहले मुझे यूपी की तत्कालीन सरकार का साथ मिला होता तो आज मैं इसका उद्घाटन कर रहा होता। उन्होंने कहा कि यूपी में योगी सरकार बनने के बाद कॉरिडोर बनाने की दिशा में प्रगति हुई।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब वह राजनीति में नहीं थे, तब भी यहां आते थे तो लगता था कि यहां कुछ करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोग काशी आते हैं उसका मूल कारण काशी विश्वनाथ के प्रति अपार श्रद्धा है। पीएम ने कहा, ‘200-250 साल बाद परमात्मा ने मेरे ही नसीब में यह काम लिखा था। 2014 में मैंने कहा था कि मैं आया नहीं हूं बुलाया गया है और अब मुझे लगता है कि इसी काम के लिए बुलाया गया था।’

पीएम ने वाराणसी में जहां काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर की नींव रखी। वहीं, राजधानी लखनऊ, आगरा, कानपुर और गाजियाबाद में पीएम मोदी मेट्रो से जुड़े प्रॉजेक्ट का उद्घाटन और शिलान्यास करने जा रहे हैं। इस बीच चुनावी साल में पीएम की तरफ से यूपी को दी जा रही इन सौगातों पर पूर्व सीएम और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी पर तंज कसा है। अखिलेश यादव ने अप्रत्यक्ष रूप से पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि एसपी सरकार की योजनाओं का दोबारा उद्घाटन करने आखिरी बार दिल्ली से माननीय आ रहे हैं।

एक ट्वीट में अखिलेश ने लिखा, ‘सुना है समाजवादी पार्टी (एसपी) के समय बनी लखनऊ और गाजियाबाद मेट्रो का पुन: उद्घाटन और कानपुर में शिलान्यास करने दिल्ली से माननीय आ रहे हैं। लगता है वह आखिरी बार उद्घाटन का शौक पूरा कर रहे हैं।’