प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंस के धैर्य और दृढ़ता ने पूरी दुनिया में लोगों को प्रेरित किया है

18
SHARE

महान ब्रह्मांड विज्ञानी स्टीफन हॉकिंग के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनके धैर्य और दृढ़ता ने दुनियाभर के लोगों को प्रेरणा दी है. उनका निधन दुखद है. उन्होंने यह भी कहा कि उनके काम ने विश्व को एक बेहतर स्थान बनाया है.

प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर कहा, ‘प्रोफेसर स्टीफन हॉकिंस एक उत्कृष्ट वैज्ञानिक और शिक्षाविद थे. उनके धैर्य और दृढ़ता ने पूरी दुनिया में लोगों को प्रेरित किया है. उनका निधन दुखद है. प्रोफेसर हॉकिंस के अग्रणी कार्य ने विश्व को एक बेहतर स्थान बनाया है. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे.’

टिप्पणिया महान भौतिकीविद और ब्रह्मांड विज्ञानी स्टीफन हॉकिंस का आज कैम्ब्रिज स्थित उनके आवास पर निधन हो गया. वह 76 वर्ष के थे. उन्होंने ब्रह्मांड के रहस्यों को खोजा और वैश्विक तौर पर एक प्रेरक हस्ती बन गए. वह अपने शरीर हो हिला नहीं सकते थे और वीलचेयर पर ही रहते थे.

हॉकिंस के बच्चों लुसी, रॉबर्ट और टिम ने एक बयान में कहा है, ‘हमें बहुत दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि हमारे पिता का आज निधन हो गया.’ हॉकिंस1963 में मोटर न्यूरॉन बीमारी के शिकार हुए और डॉक्टरों ने कहा कि उनके जीवन के सिर्फ दो साल बचे हैं लेकिन वह पढ़ने के लिए कैम्ब्रिज चले गये और एल्बर्ट आइंस्टिन के बाद दुनिया के सबसे महान सैद्धांतिक भौतिकीविद बने.