लोगों की सेवा करनी है, इसलिए वह योगी बन गए- योगी आदित्यनाथ के पिता

35
SHARE

योगी आदित्यनाथ के यूपी का सीएम बनने के बाद उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में रहने वाले उनके पिता आनंद सिंह बिष्ट ने कहा कि उनमें शुरू से ही लोगों के प्रति सेवा का भाव था. अब वह सीएम बन रहे हैं. बहुत खुशी है. उन्होंने आगे कहा कि वह बचपन से ही प्रतिभाशाली थे और कहते थे कि लोगों की सेवा करनी है. इसलिए वह योगी बन गए. मुझे जब पता चला कि वह सीएम बनेंगे तो मुझे बहुत प्रसन्नता हुई. वह अपने पथ पर सही चल रहे हैं. मेरा फोन कई बार ऑफ हो गया, मैंने कई बार चार्ज किया, मैं लोगों से 12-30 बजे तक बात ही करता रहा. वहीं उनकी मां ने कहा कि उन्हें बहुत खुशी है. वह पहले से ही ऐसे (सेवा भाव) हैं. वह ज्यादा नहीं बोलते थे. पूरे गांव में लोग खुश हैं. वहीं योगी आदित्यनाथ की बहन ने कहा कि कल हम इस खबर का इंतजार कर रहे थे. जैसे ही यह अच्छी खबर आई हमने जश्न मनाया, पटाखे फोड़े.

उत्तराखंड (तब उत्तर प्रदेश था) के पौड़ी जिला स्थित यमकेश्वर तहसील के पंचूर गांव के राजपूत परिवार में योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था. टिहरी के गजा के स्थानीय स्कूल में पढ़ाई शुरू की. स्कूल और कॉलेज सर्टिफिकेट में इनका नाम अजय सिंह नेगी है.टिहरी के गजा स्कूल से दसवीं की परीक्षा पास की. ऋषिकेश के भरत मंदिर इंटर कॉलेज से इंटरमीडिएट की परीक्षा पास की.ग्रेजुएशन की पढ़ाई करते हुए एबीवीपी से जुड़े. कोटद्वार के गढ़वाल यूनिवर्सिटी से गणित में बीएससी की परीक्षा पास की. गणित में एमएससी की पढ़ाई के दौरान गुरु गोरखनाथ पर रिसर्च करने गोरखपुर आए. यहां गोरक्षनाथ पीठ के महंत अवैद्यनाथ की नजर अजय सिंह/आदित्यनाथ पर पड़ी. सांसारिक मोहमाया त्यागकर पूर्ण संन्यासी बन गए, जिसके बाद अजय सिंह नेगी का नाम योगी आदित्यानाथ हो गया.