विश्वासमत जीतने के बाद पलानीस्वामी, जयललिता की समाधि के सामने फूट फूटकर रोये

5
SHARE

मुख्यमंत्री इडाप्पडी के. पलानीस्वामी ने 122 वोटों के साथ विश्वासमत जीत लिया है| सिर्फ 11 विधायकों ने पलानीस्वामी के खिलाफ वोट किया था| यह वोटिंग डीएमके विधायकों को बाहर ले जाए जाने के बाद हुई है| सीएम को विश्वासमत जीतने के लिए सिर्फ 117 वोट चाहिए थे| वोटिंग के वक्त 133 विधायक सदन में मौजूद थे| जहां हंगामे के बाद डीएमके के विधायकों को बाहर कर दिया गया था, वहीं कांग्रेस और IUML ने वॉक आउटइससे पहले सदन में जो हंगामा बरपा उसके बाद सत्र को एक बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया|

विधायकों ने सदन में कुर्सियां तोड़ी और पेपर फाड़े, यही नहीं डीएमके के विधायकों ने स्पीकर पी धनपाल के साथ बदसलूकी भी की जिसके बाद स्पीकर सदन छोड़कर चले गए| इसके बाद डीएमके विधायक कु का सेल्वम स्पीकर की कुर्सी पर बैठकर विरोध प्रदर्शन करने कर दिया था|हालांकि इस वोटिंग के बाद पूर्व सीएम पन्नीरसेल्वम ने कहा है कि ‘अभी भी वक्त है और जनता तय करेगी कि यह वोटिंग कितनी वैध है|’ विश्वासमत जीतने के बाद पलानीस्वामी, जयललिता की समाधि के सामने फूट फूटकर रोने लगे|