मोदी के नोटबंदी के फैसले का पाकिस्तान ने निकाला तोड़

4
SHARE

8 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के ऐतिहासिक निर्णय के बाद लगा था की नकली नोटो पर लगाम लगेगा, पर सोमवार को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने पश्चिम बंगाल के मालदा शहर में भारत-बांग्लादेश सीमा पर एक व्यक्ति से 2,000 स्पये की 48 नकली भारतीय मुद्रा नोट (एफआईसीएन) जब्त किया है|जिसके बाद सुरक्षा तंत्र में खलबली मची हुई है कि आखिर पाकिस्तान ने इतनी जल्दी नकली नोट बनाना कैसे शुरू कर दिया|नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी का कहना था कि इससे आतंकवाद की कमर टूट जाएगी, लेकिन देश में नकली नोटों का पकड़ा जाना कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है| नकली नोटों का कारोबार एक बार फिर पांव पसारने लगा है| पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश के रास्ते देश में नकली नोटों की खेप पहुंचने लगी है|

अधिकारियों ने बताया कि 96,000 रुपये मूल्य के नोट रविवार शाम मालदा के वैष्णवनगर क्षेत्र के निकट राष्ट्रीय राजमार्ग-34 से एक खुफिया अभियान के दौरान बरामद किए गए| बीएसएफ ने बताया कि नाडिया के रहनेवाले 32 वर्षीय शरीफ उल शाह को इस संबंध में गिरफ्तार किया गया है| वह कथित रूप से नकली नोट रखे हुए था और राजमार्ग पर बस पकड़ने की कोशिश कर रहा था|

पिछले सप्ताह भी बीएसएफ ने पश्चिम बंगाल में मालदा जिले से 2,000 रुपये के 100 नकली नोट जब्त किए|नोटबंदी के बाद भारत-बांग्लादेश सीमा क्षेत्र से यह नकली नोट की सबसे बड़ी जब्ती है| अधिकारियों ने कहा कि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की टीम ने चुरियंतपुर इलाके में आम के एक बागान में देर रात को 2,000-2,000 रुपये के 100 नकली नोटों का एक पैकेट पाया| बीएसएफ कर्मियों ने भारत की ओर एक संदिग्ध तस्कर को चुनौती दी जो बांग्लादेश की ओर से इस बंडल को प्राप्त करने वाला था, लेकिन वह बागान में अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा| बीएसएफ ने बताया कि यह पैकेट सीमा पार से फेंका गया था जो इस बागान में आकर गिरा और इसे बीएसएफ की टीम द्वारा बरामद किया गया| ये नोट बड़ी सफाई से एक पॉलीथिन बैग में पैक किए गए थे|

गृहमंत्रालय की अंदरूनी रिपोर्ट के मुताबकि, मार्केट में हर समय 400 करोड़ नकली नोट हमेशा पाए जाते हैं| लेकिन नोटबंदी के बाद इनका दावा था कि इसे कम कर दिया गया है| हर साल पाकिस्तान 70 करोड़ रुपये भारत की इकोनॉमी में डालता है| 2016 के पहले छह महीने में 12 करोड़ 35 लाख नकली नोट बरामद किए गए थे| 2015 में 35 करोड़ रुपये, 2014 में 36 करोड़ 11 लाख रुपय़े और 2013 में 42 करोड़ 90 लाख नकली नोट बरामद हुए थे|