पाक ने कहा भारतीय फौजों का खूनखराबा रुकवाए UN, J&K में 50 जगहों पर हिंसा, 7 इलाकों में कर्फ्यू, 1 की मौत

40
SHARE

हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी सब्जार अहमद भट के मारे जाने को पाकिस्तान ने कानून के खिलाफ (एक्स्ट्रा ज्यूडिशियल किलिंग) बताया है। इसके अलावा पाक ने इंटरनेशनल कम्युनिटी और यूएन से अपील की है कि वह कश्मीर में चल रहे खूनखराबे को रुकवाए। बता दें कि शनिवार को कश्मीर में दो एनकाउंटर ऑपरेशन में सिक्युरिटी फोर्सेस ने 10 आतंकियों को ढेर किया था। इसमें हिजबुल का टॉप कमांडर सब्जार भी मारा गया था।

‘द डॉन’ के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा, “कश्मीर के पुलवामा और बारामूला में भारतीय फौजों ने 12 लोगों की हत्या कर दी।”

सरताज ने यूएन, कॉन्फ्रेंस ऑफ इस्लामिक कंट्रीज, सिक्युरिटी काउंसिल के 5 परमानेंट देशों (यूएस, ब्रिटेन, चीन, फ्रांस और रूस-P-5) और ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइजेशंस से अपील की है वे कश्मीर में भारत के खून-खराबे को रुकवाएं।

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को सिक्युरिटी फोर्सेस ने 2 एनकाउंटर ऑपरेशन्स को अंजाम दिया। एक ऑपरेशन रामपुर सेक्टर तो दूसरा त्राल में चलाया गया। 24 घंटे में आर्मी ने 10 आतंकी मार गिराए। त्राल के एनकाउंटर में हिजबुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर सब्जार अहमद भट भी मारा गया। आतंकियों के मारे जाने के बाद घाटी में कई जगह लोगों ने आर्मी पर पथराव किया।

सब्जार बुरहान वानी का उत्तराधिकारी था। बुरहान को सिक्युरिटी फोर्सेस ने पिछले साल 8 जुलाई को मार गिराया था। बुरहान को कश्मीर में पोस्टर ब्वॉय माना जाता था। वह युवाओं की आतंकी संगठन में भर्ती करता था। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद के मुताबिक, “त्राल में शनिवार को हुए एनकाउंटर में 2 आतंकी मारे गए। इनमें बुरहान का उत्तराधिकारी सब्जार अहमद भट भी है।”

एक पुलिस अफसर के मुताबिक, सिक्युरिटी फोर्सेस ने त्राल के सोइमो गांव में सर्च ऑपरेशन चलाया था। यहां हिजबुल आतंकियों को छिपे होने की सूचना मिली थी।

सब्जार बुरहान का बचपन का दोस्त था। बुरहान के मारे जाने के बाद सब्जार ही उसका उत्तराधिकारी बना। बुरहान के मारे जाने के बाद कश्मीर में कई महीनों तक हिंसा हुई थी। इसके चलते कर्फ्यू लगा दिया गया था। पाकिस्तान ने बुरहान को शहीद बताया था। नवाज ने पिछले साल यूएन में दी अपनी स्पीच में भी बुरहान का जिक्र किया था।

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के टॉप कमांडर सब्जार अहमद भट के मारे जाने के बाद कश्मीर में 50 से ज्यादा जगहों पर हिंसा भड़क गई है। इसमें 1 सिविलयन की मौत हो गई और 60 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं। एहतियात के तौर पर श्रीनगर के 7 थाना एरिया में कर्फ्यू लगा दिया गया है। गांदेरबल जिल में भी धारा 144 लगा दी गई है। स्कूल-कॉलेज सोमवार तक के लिए बंद कर दिए गए हैं। ट्रेन और इंटरनेट सर्विसेज भी सस्पेंड कर दी गई हैं।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक श्रीनगर के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट फारूख लोन ने बताया कि रविवार को शहर के 7 थाना एरिया में कर्फ्यू लगाया गया है। जिन जगहों पर कर्फ्यू लागू है, उनमें खानयार, करालखुद, महाराज गंज, मैसुमा, नौहट्टा, रेनवाड़ी और सफाकदल शामिल हैं। गांदेरबल के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट तारिक हुसैन गनी ने कहा, “लॉ एंड ऑर्डर बनाए रखने के लिए कर्फ्यू लगाया गया है, जो अगले आदेश तक लागू रहेगा ताकि कोई पब्लिक और प्राइवेट प्रॉपर्टीज को नुकसान न पहुंचा सके।”