उन्नाव और लखीमपुर में ओवरलोड ट्रक पलटने से दस की मौत

33
SHARE

चकलवंशी-मियागंज मार्ग पर तेज रफ्तार बालू लदे ट्रक ने ओवरटेक की कोशिश में इनोवा कार को जोरदार टक्कर मार दी। कार बेकाबू होकर खंती में जाकर पलट गई। ओवरलोड ट्रक भी कार पर ही जा पलटा। हादसे में बालू के नीचे दबकर एक परिवार के चार लोगों समेत पाच की मौके पर मौत हो गई। पुलिस ने चार घटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद दो लोगों को जीवित बाहर निकाल लिया। घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है । कार सवार घटना के समय वृंदावन जा रहे थे।

वहीं लखीमपुर में ढाबे के बाहर सो रहे एक परिवार पर ओवरलोड ट्रक पलटने से पांच लोगों की मौत हो गई। हादसे में दो लोग घायल भी हुए हैं। मरने वालों में तीन महिलाएं शामिल।

कलेक्ट्रेट ऑफिस में चकबंदी विभाग में लिपिक पद पर तैनात मूलत: बागरमऊ कोतवाली क्षेत्र के गौरैयापुर निवासी हीरालाल (32) पुत्र स्वर्गीय मनोहर लाल वर्तमान में पत्‍‌नी निर्मला (28) बेटी वैष्णवी (10) और 13 वर्षीय बेटे सूरज के साथ शहर के मोहल्ला कब्बा खेड़ा स्थित दिव्यानंद आश्रम के सामने रह रहे थे। शुक्रवार की रात वह अपने पत्‍‌नी बच्चों और अपने साथी बागरमऊ के गौरैयापुर गाव निवासी नंदलाल (38) पुत्र महावीर रामकुमार (25) पुत्र दुलारे व सरवन (27) पुत्र कमलेश निवासी आसद मोहिद्दीन पुर बागरमऊ के साथ मथुरा वृंदावन के लिए अपनी कार से निकले।

कार अभी चकलवंशी मियागंज मार्ग पर आसीवन थाना क्षेत्र के रसूलाबाद के पास पहुंची ही थी कि पीछे से बालू लदे ओवरलोड ट्रक ने कार में टक्कर मार दी। जिससे कार बेकाबू हो छह फिट गहरी खंती में जा गिरी। ट्रक भी अनियंत्रित होकर कार के ऊपर पलट गया। हादसे में कार सवार बालू के नीचे दब गए। रात एक बजे करीब रसूलाबाद चौकी पुलिस को जैसे ही घटना की जानकारी हुई उसने उच्चाधिकारियों को घटना की जानकारी दी।

एसपी हरीश कुमार ने वायरलेस पर मैसेज कर हसनगंज, सफीपुर , बागरमऊ समेत आसपास के थानों की फोर्स को मौके पर भेजा और खुद मौके पर निकल पड़े। करीब चार घटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद सबसे पहले चालक हीरालाल के शव को बाहर निकाला गया इसके बाद एक-एक कर सभी सात लोगों को बाहर निकाला गया। जिसमें रामकुमार और नंदलाल को छोड़कर सभी की मौत हो गई। पुलिस ने घायलों को अस्पताल भेजते हुए शव पोस्टमार्टम को भेज दिया।

source-Dainik Jagran