विपक्ष ने लोकसभा में मोदी-मोदी के नारे लगाए

15
SHARE

बुधवार को संसद की कार्यवाही शुरू होते ही एक बार फिर दोनों सदनों में विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। विपक्ष ने लोकसभा में मोदी-मोदी के नारे भी लगाए। हंगामा थमता न देख दोनों सदनों की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित करनी पड़ी|

दोपहर 12 बजे जैसे ही दोनों सदनों की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई, विपक्ष ने फिर शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। हंगामे के बीच लोकसभा की कार्यवाही कुछ देर तो चली, लेकिन शोर थमता न देख इस सदन की कार्यवाही भी 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई|

इससे पहले वित्तमंत्री अरुण जेटली ने राज्यसभा में विपक्ष को लताड़ लगाते हुए कहा कि केवल दिखावे के लिए विपक्ष प्रश्नकाल में कुछ समय के लिए नोटबंदी मुद्दे को उठाता है। उन्होंने कहा, इसके बाद किसी न किसी बहाने विपक्ष हंगामा करता है, ‘मैं विपक्ष को चुनौती देता हूं कि सरकार चर्चा की लिए तैयार हैं। विपक्ष चाहता था कि प्रधानमंत्री सदन में आएं और वे नियमित रूप से सदन में मौजूद हैं। लेकिन लगता है कि विपक्ष संसद की कार्यवाही किसी न किसी बहाने चलने ही नहीं देना चाहता|

राज्यसभा में नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा की मांग कर रहे विपक्ष की तरफ से कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा, नोबंदी के बाद पिछले एक महीने में 84 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा, सरकार ने बिना तैयारी के नोटबंदी का निर्णय लिया। इन मौतों के लिए कौन जिम्मेदार होगा|

नोटबंदी के अलावा पश्चिम बंगाल में सेना की तैनाती और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सुरक्षा में चूक को लेकर भी संसद में हंगामा हो चुका है। उम्मीद थी कि लोकसभा में नोटबंदी पर नियम 193 के तहत शुक्रवार को जो चर्चा शुरू हुई, वह बुधवार को भी जारी रहेगी, लेकिन विपक्ष ने सुबह से ही सदन में हंगामा शुरू कर दिया|

नियम 193 में चर्चा के बाद वोटिंग का प्रावधान नहीं है। जबकि विपक्ष ऐसे नियम के तहत चर्चा चाहता है, जिसमें वोटिंग का प्रावधान हो। बुधवार को चर्चा सुचारू रूप से चलने की उम्मीद है। लोकसभा में बुधवार का दिन प्रधानमंत्री कार्यालय से जुड़े प्रश्नों का भी होता है, इसलिए पीएम मोदी भी लोकसभा में मौजूद रहेंगे|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार सुबह भाजपा के संसदीय दल की बैठक में कहा कि जैसे चुनाव के समय ईवीएम मशीन का प्रचार किया जाता है। वैसे ही कैशलेस सिस्टम का भी प्रचार करना चाहिए।संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने भाजपा संसदीय दल की बैठक से बाहर आने के बाद मीडिया को बताया कि जनता द्वारा विमुद्रीकरण का समर्थन करने के लिए बैठक में एक प्रस्ताव पास करके जनता को धन्यवाद दिया गया है।उन्होंने कांग्रेस, टीएमसी और अन्य विपक्षी दलों द्वारा संसद नहीं चलने देने के लिए कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा, सरकार दोनों सदनों में जवाब देने के लिए तैयार है|

अनंत कुमार ने कहा, ‘सदन को चलाने के लिए एक प्रस्ताव पास किया, जिसे राजनाथ सिंह जी ने रखा और जिसे अरुण जेटली जी ने आगे बढ़ाया।’राज्यसभा में बुधवार को द टैक्सेशन लॉज (सेकेंड अमेंडमेंट) बिल 2016 को पेश किया जा सकता है, जिसे लोकसभा पहले ही पास कर चुकी है|

यही नहीं, सरकार बुधवार को संसद में पूरक अनुदान मांगें पेश करेगी। वित्त मंत्री अरुण जेटली इसे पेश करेंगे। इससे दो बातों का पता चलेगा कि सरकार चालू कारोबारी साल में विभिन्न मदों में और कितना अतिरिक्त खर्च करना चाहती है। और सरकार को अतिरिक्त आय कहां-कहां से मिलेगी|