अलीगढ़ में रक्षाबंधन के दिन मामूली बात पर दो भाइयों की हत्या

103
SHARE

कल रक्षाबंधन के दिन अलीगढ़ में मामूली से बात पर दो भाइयों की हत्या कर दी गई। व्यस्ततम बाजार रेलवे रोड पर विवाद में एक चर्चित कचौड़ी बिक्रेता ने दो सगे भाइयों को गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया।

मामला दो संप्रदायों से जुड़ा देख आइजी, डीएम, एसएसपी, एडीएम, एसपी सिटी कई थानों के फोर्स, आरएएफ के साथ मौके पर पहुंच गए। बाजार में अफरा-तफरी मच गई, दुकानों के शटर गिरने लगे। आक्रोशित लोगों ने माल गोदाम पर कासगंज डिपो की बस पर पथराव कर दिया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने सूझबूझ से लोगों को शांत किया।

मोहल्ला सराय बैरागी में बब्बू और उनके छोटे भाई हबीब का परिवार एक ही मकान में रहता है। हबीब और उनकी पत्नी की कई वर्ष पूर्व मौत हो चुकी है। इनके छह बेटे सोनू, वसीम, काले, निक्की, आशू और सलीम बब्बू के साथ ही रहते थे और ताऊ के साथ गली के नुक्कड़ पर साइकिल रिपेयरिंग, पंचर जोडऩे का काम करते थे। इसी मोहल्ले में कचौड़ी बिक्रेता चंदनियां, क्वार्सी निवासी सुरेश माली ने किराए पर गोदाम ले रखा है। बताते हैं कि रविवार देर शाम सुरेश और वसीम (27) में किसी बात को लेकर मारपीट हो गई।

आरोप है कि सोमवार सुबह सुरेश घर से वसीम को बुलाकर ले गया। गली के बाहर दोनों में फिर मारपीट हुई। तभी वसीम का छोटा भाई आशू आ गया। खुद को घिरता देख सुरेश ने लाइसेंसी पिस्टल से फायरिंग कर दी। जिसके बाद दोनों की मौत हो गई।