ओमप्रकाश राजभर ने भाजपा को दिया 100 दिन का अल्टीमेटम, मांग नहीं मानी तो 80 सीटों पर लड़ेंगे चुनाव

29
SHARE

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने अब भाजपा को 100 दिन का अल्टिमेटम दिया है। उन्होंने एक बार फिर कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने लखनऊ और दिल्ली में वादा किया था कि पिछड़ों के 27 प्रतिशत आरक्षण को तीन हिस्सों में बांटा जाएगा। उनका कहना था कि पिछड़ा, अति पिछड़ा और महापिछड़ा को आबादी के हिसाब से आरक्षण का वादा अभी तक पूरा नहीं किया।

ओमप्रकाश राजभार ने चेतावनी दी कि भाजपा अपने वादे को पूरा नहीं करती है तो सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी अकेले ही 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने सभी सीटों पर चुनाव तैयारी के निर्देश कार्यकर्ताओं को दे दिए हैं।

राजभर ने कहा कि हम तो इतना ही कह रहे हैं कि भाजपा अपने साथ रखना चाहती है तो 27 फीसदी आरक्षण को तीन श्रेणियों में विभाजित करे। ब्लैकमेल करने से हमारी सरकार तो बन नहीं जाएगी। हम तो विधानसभा चुनाव में भी कम सीट पर ही लड़े थे। जो वादा किया था, उतनी सीटें नहीं मिलीं।

राजभर से पूछा गया कि क्या वह विपक्षी पार्टियों के साथ जाने वाले हैं तो तंज कसते हुए उनका कहना था कि भाजपा चाहेगी तो वह एसपी-बीएसपी और अन्य पार्टियों के महागठबंधन में भी शामिल हो सकते हैं। किसी से बातचीत में कोई बुराई नहीं है। हमारी सभी बड़े नेताओं से बात होती रहती है। मायावती, मुलायम सिंह यादव, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, शरद यादव, लालू प्रसाद यादव, राम विलास पासवान, संजय राउत, सभी से हम मिलते हैं। संजय राउत से हाल ही में मुलाकात के बारे में उन्होंने कहा कि मुलाकात का यह मतलब नहीं कि हम उनके साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा चाहेगी तो तालमेल करा भी सकती है।

राजभर ने अगड़ी जातियों को 10 फीसदी आरक्षण के फैसले पर कहा कि यह चुनावी जुमला है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण नहीं हो सकता।