नोटबंदी पर फैसला लेने से पहले कोई होमवर्क नहीं किया गया : कोलकाता HC

7
SHARE

कलकत्ता (कोलकाता) हाई कोर्ट ने नोटबंदी को लेकर सरकार को फटकार लगाई है| शुक्रवार को नोटबंदी के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि नोटबंदी को लेकर सरकार रोज नए-नए फैसले ले रही है और अगले दिन उसे बदल दे रही है| फैसलों को ऐसे रोज बदलना ठीक नहीं है. बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी लाइनों से लोग परेशान हो रहे हैं| 10वें दिन भी देश में हालात जस के तस हैं| सरकार हर दिन नया फैसला ले रही है| कोर्ट ने इस पर कड़ा ऐतराज जताया. जज ने कहा कि अस्पतालों में कैश की वजह से जरूरी इलाज नहीं हो पा रहा है| अपने बेटे की बीमारी का जिक्र करते हुए जज ने कहा, ‘मेरे बेटे को डेंगू है, लेकिन अस्पताल वाले कैश नहीं ले रहे हैं|’

कोलकाता हाई कोर्ट ने कहा कि नोटबंदी के फैसले को लागू करते वक्त सरकार ने अपने दिमाग का सही इस्तेमाल नहीं किया| हर दिन वो नियम बदल रही है. इसका मतलब साफ है कि इतना बड़ा फैसला लेने से पहले कोई होमवर्क नहीं किया गया| कोर्ट ने कहा कि हम सरकार का फैसला नहीं बदल रहे, लेकिन इस मामलें में बैंक कर्मचारियों की लापरवाही भी सामने आ रही है| इस याचिका पर अगले शुक्रवार को कोर्ट में फैसला आएगा|

सुप्रीम कोर्ट ने भी नोटबंदी पर सभी याचिकाओं पर फैसला दिया है| कोर्ट ने कहा कि नोटबंदी पर केंद्र सरकार दिल्ली हाई कोर्ट में ट्रांसफर याचिकाएं दें|