BJP के लोगों ने पहले ही सफेद कर लिया था अपना काला धन: केजरीवाल

8
SHARE
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मांग की है कि केंद्र सरकार 1000 और 500 के नोट बंद करने के अपने फैसले को वापस ले। अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पीएम पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने दावा किया कि पीएम ने यह एलान करने से पहले अपने उन दोस्तों कोअलर्ट कर दिया था जिनके पास काला धन है।
-अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘अचानक जुलाई से सितंबर तक भारी मात्रा में बैंकों में पैसे डिपोजिट होने लगे ये किसका पैसा था।’
-उन्होंने कहा कि, ‘8 नवंबर को पीएम ने नोट बंद करने का एलान किया और साथ ही यह भी कहा कि 2000 और 500 के नए नोट बाजार में आएंगे। लेकिन बीजेपी नेता संजीव खंबोज ने 6 नवंबर को 2000 रुपए के नोटों की गड्डी की फोटो ट्वीट कर दी थी।’
-सीएम ने कहा कि बाजार में 500 और 1000 के नोट चेंज करवाने के लिए दलाल घूम रहे हैं। ब्लैक मनी वाले अपना पैसा प्रॉपर्टी, सोना और डॉलर खरीदने में लगा रहे हैं।
-उन्होंने कहा, ‘सरकार कह रही है कि ढाई लाख से ज्यादा रुपए अगर बैंक में जमा कराए तो एक्शन लिया जाएगा दरअसल वो यह रही है ढाई लाख से ज्यादा जमा मत कराओ क्योंकि बाकी पैसे बदलने के लिए दलाल आपके पास आ रहे हैं।’बता दें कि नोट बंद करने के फैसले के खिलाफ आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल लगातार बोल रही है।
और क्या कहा केजरीवाल ने?
– ‘नोट बदलने और एटीएम से पैसे निकालने के लिए कौन लोग लाइन में लगे हैं? वो आम जनता है।‘
-‘जान-बूझकर यह क्राइसिस पैदा की गई, जिससे लोग दौड़े-दौड़े सरकार के दलालों के पास भागें।‘
– ‘ये मोदी जी का सर्जिकल स्ट्राइक ब्लैक मनी के ऊपर नहीं, आम जनता के बरसों से जोड़े हुए सेविंग्स पर स्ट्राइक्स है।‘
– ‘ये जो अफरा-तफरी मची है, उससे किसी ब्लैक मनी का पता नहीं चलने वाला. इससे ब्लैक मनी की बस जगह बदल जाएगी।’
बीजेपी का पलटवार
-बीजेपी ने भी केजरीवाल के आरोपों पर पटलवार किया है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल एक अफवाह बेचनेवाला से ज्यादा कुछ नहीं है, लेकिन उनकी अफवाह भारत के लिए एक मजाक की तरह है।