राम और हुसैन में नहीं है मतभेद, राम कथा के मंच पर बोले मौलाना सादिक,

26
SHARE

शिया धर्मगुरु डॉ. कल्बे सादिक ने कहा, राम और हुसैन में कोई मतभेद नहीं है। धर्म किरदार से बनता है।  हिंदू एक प्यारा धर्म है। जब से गीता का अध्ययन किया हिंदू धर्म के प्रति सम्मान बढ़ा है। धर्म किरदार से पहचाना जाता है। खाली वेश बदलने से धार्मिक नहीं हुआ जा सकता। बिस्मिल्लाह कहो या राम, सलाम तो एक ही जगह पहुंचता है। राजधानी में इंसानियत का यह पैगाम गूंजा संत मोरारी बापू की रामकथा के मंच पर। मंच पर मौजूद शिया धर्म गुरु मौलाना डॉ. कल्बे सादिक ने भी यही कहा-राम और हुसैन में कोई मतभेद नहीं|

मौलाना ने कहा कि धर्म व धार्मिक ने समाज को नहीं बांटा बल्कि सम्राट ने धर्म को बांटा और नुकसान पहुंचाया है। आज लक-नाऊ है। आज मेरा लक है कि मुझे आपके दरबार में आने का मौका मिला है। कोई भी धर्म कभी भी किसी के लिए मुसीबत नहीं बन सकता। जिस भारत से इमाम हुसैन को मोहब्बत थी तो हम मुसलमानों को भी भारत से उतनी ही मोहब्बत है। धर्म मतभेद रखने से नहीं एक दूसरे के सम्मान से बढ़ता है|