अखिलेश यादव का थिंक सेंटर बनेगा जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में , वहीँ से निशाना साधेंगे दिग्गज

11
SHARE

समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच यूपी के सीएम अखिलेश यादव विधानसभा चुनाव को लेकर बेहद सक्रिय होते दिख रहे हैं. इनके चुनावी वार रूम तक का फैसला करीब-करीब हो गया है. माना जा रहा है चुनावी वार रूम के तौर पर अखिलेश जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट का इस्तेमाल करेंगे.

यूपी की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी के तीन मुख्य कार्यालय हैं. सपामुख्यालय, लोहिया ट्रस्ट और जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट. पिछले दिनों सबसे ज्यादा हलचल अगर कहीं देखने को मिली है तो वह जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट ही है.

इसी के चलते माना जा रहे है कि यह ही अखिलेश का चुनावी वार रूम बनेगा. अखिलेश की युवा टीम उसकी विकास रथ यात्रा की तैयारियों में यहीं जुटी हुई है.

इसके साथ ही सीएम अखिलेश यादव ने विकास रथ यात्रा निकालने की घोषणा कर दी है. 3 नवंबर से अखिलेश अकेले विकास रथ यात्रा पर निकल रहे हैं.

सूत्रों के मुताबिक 5 नवंबर को पार्टी के स्थापना दिवस की रजत जयंती समारोह से भी वे दूर रह सकते हैं. हालांकि, अभी इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि अगर मुख्यमंत्री अखिलेश को इसमें शामिल होना ही होता तो वे रजत जयंती वाले दिन से भी इसकी शुरुआत कर सकते थे. इस सबके बीच अगर कहीं कोई कंफ्यूज है तो वह है सपा का कार्यकर्ता. उसे अभी तक समझ में नहीं आ रहा है कि वह क्या करे?

अखिलेश की युवा टीम रथ यात्रा की तैयारियों में जोरों से जुटी है. प्रदेश18 की टीम इसकी पड़ताल के लिए जब वहां पहुंची तो युवाओं की काफी संख्या देखने को मिली. हालांकि किसी ने भी कुछ कहने से इनकार कर दिया. यहां तक की अखिलेश की विकास यात्रा की तैयारियों के बारे में भी बोलने से बचते नजर आए.

नाम न छापने की शर्त पर एक युवा सपा नेता ने कहा, ‘देखिए अभी तस्वीर कुछ भी साफ नहीं हैं. जिलाध्यक्षों और महासचिवों की बैठक हुई है. शनिवार को पार्टी कार्यकारिणी की बैठक है. उसके बाद सोमवार को पार्टी मंत्री, विधायकों और सांसदों की बैठक सपा सुप्रीमो लेंगे. इस बैठक के बाद ही सही स्थिति का पता चल पाएगा.’

नेता का कहना था कि जो कुछ भी होगा अब 24 अक्टूबर की बैठक के बाद ही होगा.