बिहार में नया शराबबंदी कानून लागू: गैर जमानती होगा अपराध, सजा 3 साल

7
SHARE
बिहार में रविवार से नया शराबबंदी कानून लागू हो गया। कैबिनेट मीटिंग में इसे हर हाल में राज्य में लागू करने का फैसला लिया गया। सीएम नीतीश कुमार और सभी मंत्रियों ने इसका संकल्प लिया। इस मामले में नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है। नए कानून में अपराध गैरजमानती होगा। इसमें सजा बढ़ाकर 3 साल कर दी गई है। बता दें कि 2 दिन पहले ही हाईकोर्ट ने पुराने शराबबंदी कानून को रद्द कर दिया था। सरकार ने इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का फैसला किया है।
नए कानून में क्या हैं प्रॉविजन…
 -बिहार प्रॉहिबिशन एंड प्रोडक्ट्स बिल-2016 (बिहार मद्यनिषेध व उत्पाद विधेयक-2016) बिल्कुल नया शराबबंदी कानून है।
– राज्यपाल भी इसे अपनी मंजूरी दे चुके हैं।
– इसमें सजा को बढ़ाकर 3 साल कर दिया गया है। सभी अपराध को गैरजमानती किया गया है।
– किसी घर में शराब मिली तो घर के 18 से अधिक उम्र के सभी मेंबर्स को सजा होगी।
– एएसआई को पुलिसिंग का अधिकार दिया गया है। स्पेशल कोर्ट के गठन का प्रॉविजन किया गया है।
मंत्री बोले-समाज में आया बदलाव
– कैबिनेट मीटिंग के बाद मंत्रियों ने कहा कि शराबबंदी के बाद गांवों और समाज में बदलाव आया है।
– सरकार ने 2 अक्टूबर से नया कानून लागू करने का फैसला पहले ही कर लिया था।
नीतीश बोले- विपक्ष का दोहरा चरित्र सामने आया
– सीएम नीतीश कुमार ने कहा है- ‘शराबबंदी पर आए हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सरकार सुप्रीम कोर्ट जाएगी।’
– ‘हाईकोर्ट के आदेश से सरकार के कई फैसलों पर असर पड़ेगा। इसलिए सरकार सुप्रीम कोर्ट जाएगी।’
– ‘कानून बनाने का काम विधानसभा का है। इसको दोनों सदनों ने पास किया था।’
– नीतीश ने यह भी कहा कि-‘हाईकोर्ट के फैसले के बाद विपक्ष का दोहरा चरित्र सामने आ गया है।’
– ‘अगर उनके पास कोई सुझाव है तो हमें दे। उस पर विचार किया जाएगा।’
– ‘कोई शराबबंदी फेल करने का सुझाव देगा तो मैं उसको नहीं मानूंगा।’
– ‘विपक्ष सलाह दे कि अगर कोई बिहार के बाहर से शराब पीकर यहां उत्पात मचाए तो उसके साथ क्या करना चाहिए।’