NDA के राष्ट्रपति पद के उम्‍मीदवार रामनाथ कोविंद

51
SHARE

राष्‍ट्रपति के चुनाव के लिए भाजपा ने बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को भाजपा की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्‍मीदवार बनाया गया जिसमें सत्तारूढ़ एनडीए के बाकी दलों ने भी अपनी सहमति जाहिर कर दी। कोविंद के नाम की घोषणा खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने की। हालांकि कांग्रेस ने आम सहमति बनाने की संभावनाओं से इनकार कर दिया। कांग्रेस ने कहा कि सरकार ने अपना निर्णय हमें बताया, न कि कुछ नामों पर चर्चा की। सरकार की तरफ से आम सहमति बनाने की कोशिश ही नहीं की गई।

आजाद ने कहा कि बीजेपी की तरफ से केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायुडू जब बात करने आए थे, हमें उम्मीद थी कि अपने साथ वो कुछ नाम लाए होंगे, जिनपर चर्चा होगी। पर वैंकेया बिना किसी नाम के ही हमसे बातचीत करने आ गए। उन्होंने कहा था कि जब हम कुछ नामों पर निर्णय लेंगे, तो आपको बताएंगे। घोषणा से पहले हम आम सहमति बनाने के लिए कुछ नामों पर चर्चा करेंगे। पर सरकार की तरफ से ऐसा कुछ भी नहीं किया गया। सरकार ने तो सिर्फ अपना निर्णय सुनाया है। ऐसे में आम सहमति की बात करना बेमानी होगी।

एनडीए की तरफ से रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफी खुश दिखे। उन्होंने ट्विटर पर कोविंद की उम्मीदवारी पर कहा कि कोविंद ने अपना पूरा जीवन गरीबों के लिए समर्पित कर दिया। वो किसान के बेटे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू और तमिलनाडु के सीएम ई.पलानीसामी से बात की।

इस पूरे मामले पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बताया कि पार्टी की ओर से इस संबंध में सहयोगी दलों के साथ ही कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और कईबड़े नेताओं से बात की गई है। अमित शाह ने बताया कि 23 तारीख को रामनाथ कोविंद की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन किया जाएगा।

इससे पहले राष्ट्रपति पद के उम्‍मीदवार के लिए भाजपा के संसदीय दल की बैठक में घंटेभर तक चर्चा की गई। बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू, वित्त मंत्री अरुण जेटली सहित तमाम बड़े नेता मौजूद थे। बैठक के बाद अमित शाह ने संसदीय बोर्ड में हुए फैसले की जानकारी सबको दी। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार फैसले से पहले केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू ने भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को इस फैसले की जानकारी दी।