भारतीय जवानों द्वारा की गयी सर्जिकल स्ट्राइक पर पाकिस्तान का बयान

9
SHARE

उरी अटैक के बाद भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा रूख अपना लिया है. भारतीय जवानों ने एलओसी के आस पास हमलों की फिराक में आए आतंकियों पर सर्जिकल स्ट्राइक करके उनके ठिकानों को खत्म कर दिया है. सीमा पर हो रही फायरिंग में पाकिस्तान ने अपने दो सैनिकों के मारे जाने का दावा भी किया है.

इस सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लाइन ऑफ कंट्रोल पर भारतीय सेना के हमले की निंदा की है और साथ ही शहीद जवानों की श्रद्धांजलि दी है.

इसके बाद नवाज शरीफ ने कहा है, ‘देश की सुरक्षा और संप्रभुता को नुकसान पहुंचाने के शैतानी मंसूबों का मुंहतोड़ जवाब देंगे.’ नवाज शरीफ ने कहा है ‘हमारी अमन की ख्वाहिश को कमरोजी न समझा जाए. हमारी फौज सरहद की सुरक्षा पूरी ताकत रखता है. भारतीय फौज का मुकाबला करने और वतन की सुरक्षा करने के लिए तैयार है.’

आपको बता दें कि शरीफ ने एक उच्चस्तरीय बैठक में भाग लेने के बाद ये भी कहा कि ‘दुनिया इस बात की गवाह है कि पाकिस्तान ने विश्व शांति के लिए जबर्दस्त कुर्बानी दी है और बहुत उकसाने के बावजूद पाकिस्तान ने बेमिसाल और अभूतपूर्व संयम बरता है.’ इस बैठक में ‘भारतीय क्षेत्र वाले कश्मीर में कथित तौर पर मानवाधिकारों के उल्लंघन पर गहरी चिंता जताई गई और भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा शक्ति के बर्बर प्रयोग की कड़ी निंदा की गई.’

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान शांतिपूर्ण दक्षिण एशिया के लिए संघर्ष जारी रखेगा. शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीरियों को नैतिक और कूटनीतिक समर्थन देना तब तक जारी रखेगा जब तक कश्मीर की जनता की आकांक्षाओं के अनुसार कश्मीर मुद्दे का समाधान नहीं हो जाता.