सजा-ए-मौत तो दे दी, मगर मायावती ये भी बता दें मेरा कसूर क्या था:नसीमुद्दीन सिद्दीकी

182
SHARE

बहुजन समाज पार्टी से निष्काषित नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कौमी एकता कमेटी की ओर से आयोजित इफ्तार पार्टी में शिरकत करने पहुंचे थे। वहां उन्होंने पार्टी से निष्कासन पर कहा कि उन्हें उनका कसूर पता नहीं है। उन्हें नहीं पता उनपर आरोप क्या है। उन्होंने कहा सजा-ए-मौत तो दे दी मगर मायावती ये भी बता दें मेरा कसूर क्या था। उन्होंने कत्‍ल किसका किया था। नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि किसी को समझ में ही नहीं आया कि ऐसा क्‍यों किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि पैसे मांगने का आरोप लगे हैं तो किससे पैसे मांगे थे। एक भी आदमी पेश करें मायावती। उन्‍होंने कहा कि जो आरोप लगा रहा उसे यह तो पता होगा कि मैं किसका कत्ल किया हूं तो मुझे भी बताए।