बसपा से न‍िकाले गए नसीमुद्दीन स‍िद्दीकी ने ‘राष्ट्रीय बहुजन मोर्चा’ पार्टी बनाई

16
SHARE

शन‍िवार को बसपा से न‍िकाले गए नसीमुद्दीन स‍िद्दीकी ने ‘राष्ट्रीय बहुजन मोर्चा’ नाम से नई पार्टी बना ली।

नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा, ”राजनीतिक विचारों के नुकसान और मायावती को सबक सिखाने के लिए ही हमने नई पार्टी का गठन किया है। हमारी लड़ाई ऐसे लोगों से है, जिन्होंने कांशीराम और डॉ. अंबेडकर के विचारों को सामने लाकर दलितों को छलने की कोश‍िश की है। ऐसे लोगों को हमारी पार्टी बताएगी कि पैसा वसूली करके तिजोरी भरने से दलितों की स्थिति में बदलाव नहीं आएगा।”

राष्ट्रीय बहुजन मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने आगे कहा, ”हमने दलितों और गरीबों को उनका हक दिलाने के लिए नए मोर्चे का गठन किया है। हमने सभी साथियों से बातचीत करने के बाद ही हमने नए मोर्चा बनाने का निर्णय लिया है। बहुजन की आड़ में कुछ लोग अपने निजी स्वार्थ की राजनीति कर रहे हैं। ब्रह्म स्वरूप सागर, अच्छे लाल निषाद और पूर्व मंत्री और पूर्व विधायक ओपी सिंह को पार्टी का सह-संयोजक बनाया गया है।”

10 मई 2017 को मायावती ने पार्टी के खिलाफ काम करने के आरोप में नसीमुद्दीन और उनके बेटे अल्ताफ को बाहर कर दिया था। इसके अगले ही द‍िन 11 मई को नसीमुद्दीन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मायावती पर कई संगीन आरोप लगाए थे।