नगरोटा हमला: 80 मीटर लंबी सुरंग से आए थे आतंकी

14
SHARE
जम्मू के चमलियाल में बीएसएफ को 80 मीटर लंबी और 2X2 फीट की एक सुरंग मिली है। बीएसएफ का अनुमान है कि सांबा में मंगलवार को मारे गए तीनों आतंकी खेतों में बनी इस सुरंग से होकर इंटरनेशनल बॉर्डर पार आए होंगे। हालांकि, उन्होंने यह नहीं कहा कि सुरंग पाकिस्तान की जमीन से बनाई गई है। बीएसएफ के डीजी केके शर्मा ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पैरा मिलिट्री फोर्स के पास आतंकी घुसपैठ की पुख्ता जानकारी थी। इसलिए, आतंकियों का पता लगाना और उन्हें काबू करना मुमकिन हो पाया|
केके शर्मा ने बुधवार को मीडिया से कहा, “हमने ऑपरेशन खत्म होने के बाद चमलियाल बॉर्डर पर मुआयना किया। जिसमें पाया गया कि फेंसिंग को काटा नहीं गया था।अगले दिन सुबह तारबंदी के पास खेत में 2X2 फीट की सुरंग पाई गई। यहां मिट्टी मुलायम है। हमने बाड़ पर गहराई में नाका बनाया है और इसलिए हम तीन आतंकवादियों का पता लगा सके और काबू कर सके।यह सुरंग इंटरनेशनल बॉर्डर से करीब 75-80 मीटर दूर और एलओसी ने 35-40 मीटर दूर पाई गई है।हम नहीं जानते कि यह सुरंग पाकिस्तान की तरफ से बनाई गई है|’
शर्मा ने कहा कि ‘बॉर्डर पर पहरा देने वाला बल पाकिस्तान रेंजर्स के अपने काउंटर पार्ट्स के सामने यह मुद्दा उठाएगा, लेकिन दुश्मनी बढ़ने की वजह से कुछ वक्त से उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है।बीएसएफ ऑफिसर ने कहा कि यह कहने के लिए पर्याप्त सबूत हैं कि आतंकी बॉर्डर के इस सुरंग से होकर आए।मंगलवार को ही नगरोटा में सेना के एक शिविर पर भी हमला हुआ, लेकिन यह जांच का विषय है कि इसका सांबा आतंकी घटना से कोई लिंक है या नहीं|’