विजिलेंस विभाग का अलर्ट, क्या रेल टिकट से कालाधन को किया जा रहा है सफेद!

11
SHARE

एडवांस रेल टिकट बुकिंग को लेकर विजिलेंस विभाग ने सरकार को आगाह किया है. विजिलेंस विभाग को शक है कि इस तरीके से कालाधन को सफेद करने की कोशिश की जा रही है.

विजिलेंस विभान ने खासतौर पर राजधानी और शताब्दी जैसी ट्रेनों के टिकट बुकिंग पर नज़र रखने के लिए कहा है. दो से तीन महीने के एक साथ कई एडवांस ट्रेन टिकट बुकिंग कराने वालों पर विजिलेंस विभाग नजर भी रख रहा है. विजिलेंस विभाग को शक है कि 500 और 1000 के पुराने नोटों को नए नोटों से बदलने के लिए कुछ लोग वेट लिस्ट का टिकट बुक कर रहे हैं.

मोदी सरकार ने कालेधन पर सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए 500 रूपये और 1000 रूपये के नोटों रोक लगा दी है. इसके तुरंत बाद ही रेलवे की टिकटों की बुकिंग में 8 तारीख के मुकाबले 9 तारीख को तरीबन 25 फीसदी का इजाफा हुआ. विजिलेंस विभाग को शक है कि 500 और 1000 के पुराने नोटों को नए नोटों से बदलने के लिए कुछ लोग वेट लिस्ट टिकट बुक कर रहे हैं.

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक ये तेजी किन-किन जगहों पर अप्रत्याशित है इस पर उनकी पैनी नजर है. दरअसल अधिकारी तब चौकन्ने हुए जब बुधवार सुबह बैंगलोर की एक टिकट बुंकिग काउंटर से सूचना आई कि 3 लाख की जगह 12 लाख की टिकट बुकिंग हुई. उसके बाद से ही रेलवे ने इस तरह के ट्रांजेक्शन पर पैनी नजर रखनी शुरू कर दी है.

रेलवे बोर्ड के सूत्रों के मुताबिक रेल बोर्ड में एडिशनल मेम्बर कमर्शियल के अंदर एक मॉनिटेरिंग कमेटी का गठन भी किया है ताकि ऐसे ट्रांजेक्शन पर नज़र रखी जा सके. इसके लिए बाकायदा एडिशनल मेम्बर कमर्शियल के अधीन एक मॉनिटरिंग सेल तैयार किया गया है.