मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड शरई कानून की जानकारी अब फेसबुक पर देने की तैयारी में

62
SHARE

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड अब शरई कानूनों के बारे में लोगो को जागरूक करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेगा।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने एक सोशल मीडिया समिति बनाने का फैसला किया है| लोगो में शरई कानूनों के बारे में सही जानकारी नहीं होने पर बोर्ड ने ये फैसला किया है, मीडिया माध्यमों से तलाक, शादी, हलाला, वारिसाना हक, महिला अधिकार के बारे जानकारी उपलब्ध कराएगा|

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना यासीन उस्मानी ने बताया कि संस्था के शीर्ष पदाधिकारियों समेत एक बड़ा वर्ग यह महसूस करता है कि जिन माध्यमों से शरई कानूनों की आलोचना हो रही है, उन्हीं माध्यमों पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर एक सही तस्वीर सामने रखी जाए। 15-16 अप्रैल को लखनऊ में हुई बोर्ड की कार्यकारिणी की बैठक में इस मुद्दे को सामने रखते हुए एक सोशल मीडिया समिति बनाने का फैसला किया गया है। इसके गठन के लिए बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना राबे हसनी नदवी और महासचिव मौलाना वली रहमानी को अधिकृत किया गया है। इस समिति के बहुत जल्द गठित होने की उम्मीद है। बहुत मुमकिन है कि इसमें बोर्ड के ही ऐसे लोगों को शामिल किया जाएगा जो सोशल मीडिया पर व्यक्तिगत रूप से सक्रिय हैं और शरई कानूनों की हर बारीकी पर तुरन्त प्रतिक्रिया दे सकते हैं।