मुरली विजय शानदार पारी खेलकर आउट, चोटिल विराट बैटिंग करेंगे

10
SHARE

ऑस्ट्रेलिया के 451 रनों के जवाब में फिलहाल 282 रन से पीछे चल रही है. चोटिल कप्तान विराट कोहली बल्लेबाजी के लिए तैयार हैं. तीसरे दिन का खेल जारी है. टीम इंडिया ने लंच तक 2 विकेट पर 193 रन बना लिए हैं. चेतेश्वर पुजारा (39) क्रीज पर हैं. मुरली विजय के लिए यह मैच खास है क्योंकि यह उनका 50वां टेस्ट मैच है. उन्होंने इसका जश्न भी मना लिया है और फिफ्टी बनाई, लेकिन उसे शतक में नहीं बदल सके और लापरवाही भरा शॉट खेलकर आउट हो गए. टीम इंडिया की ओर से ओपनरों की यह सीरीज में पहली फिफ्टी पार्टनरशिप भी रही. पैट कमिन्स ने भारत का एकमात्र विकेट लिया है.

तीसदे दिन टीम इंडिया को मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा से बड़ी उम्मीदें थी. दोनों ने टीम इंडिया के स्कोर को एक विकेट पर 120 रन से आगे बढ़ाया और मुरली विजय ने अपने 50वें टेस्ट मैच में फिफ्टी जमाकर टीम को राहत पहुंचाई. लग रहा था कि भारत दिन का पहला सत्र बिना विकेट खोए ही निकाल लेगा, लेकिन मुरली विजय ने स्पिनर स्टीव ओकीफी की गेंद पर लापरवाही भरा शॉट खेला और कीपर मैथ्यू वेड ने उनको 82 रन पर स्टंप आउट कर दिया. विजय ने अपनी पारी में 10 चौके और एक छक्का लगाया. दूसरे दिन लोकेश राहुल और मुरली विजय ने टीम इंडिया को अच्छी शुरुआत दिलाई थी और पहले विकेट के लिए 91 रन जोड़े थे.

बीसीसीआई के एक ट्वीट के अनुसार कंधे की चोट से परेशान कप्तान विराट कोहली अपनी बैटिंग पोजिशन पर आने के लिए तैयार हैं. इस खबर से टीम इंडिया को निश्चित रूप से राहत मिलेगी.

भारतीय ओपनरों की पहली बड़ी साझेदारी
दूसरे दिन के अंतिम सत्र में मुरली विजय और लोकेश राहुल ने भारतीय पारी को मजबूती देने की कोशिश की और दोनों इसमें सफल भी रहे. विजय-राहुल ने संभलकर खेलते हुए सीरीज की पहली अर्द्धशतकीय पार्टनरशिप पूरी की. वास्तव में टीम इंडिया की ओर से इस सीरीज में सबसे बड़ी ओपनिंग पार्टनरशिप 39 रन की थी, जो अभिनव मुकुंद ने राहुल के साथ बेंगलुरू में की थी.