नोटबंदी के 27 दिन बाद भी यूपी का हाल बेहाल

11
SHARE
27 दिन बीत जाने के बाद भी नोटबंदी के फैसले के से लोगों की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। यूपी के लगभग सभी जिलों के बैंक और एटीएम के बाहर लंबी-लंबी कतारें लगी हैं। एटीएम में कई दिनों से कैश नहीं पहुंच पा रहा है|
बाराबंकी में भी पंजाब नेशनल बैंक की जैदपुर ब्रांच पर कैश खत्म हो जाने से कतार में खड़े लोग नाराज हो गए। लोगों ने बंद बैंक के गेट पर ईंट-पत्थर मारने शुरू कर दिए। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को समझाने की कोशिश की। नोटबंदी के विरोध में यहां समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने विरोध दर्ज कराया।उन्होंने जिले के तमाम मुख्य मार्गों हरदोई-लखनऊ राजमार्ग पर पालपुर के पास, हरदोई-फर्रुखाबाद मार्ग पर बावन के पास, हरदोई-शाहजहांपुर मार्ग पर भी जाम लगाया, जिससे ट्रैफिक प्रभावित रहा। इस वजह से वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। नोटबंदी के कारण किसानों, गरीबों, मजदूरों को परेशान होते देख हापुड़ में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सपा नेता तेजपाल प्रमुख के नेतृत्व में तहसील चौराहे पर प्रदर्शन किया।  इस दौरान उन्‍होंने ट्रैक्टर-ट्राली लगाकर जाम लगा दिया। ट्रैक्टर-ट्राली में वे सब्जियां (सड़े आलू, बैगन, बंद गोभी) लेकर पहुंचे थे। इसे उन्‍होंने सड़क पर फेंककर जाम लगा दिया और केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नोटबंदी के कारण होने वाली समस्याओं का समाधान करने की मांग उठाई। थाने से चंद कदम की दूरी पर हुए इस हंगामे को लेकर पुलिस प्रशासन ने भी कुछ नहीं किया। प्रदर्शन के चलते भीषण जाम लग गया, जिससे लोगों को भारी दिक्‍कतों का सामना करना पड़ा।मुरादाबाद के काशीपुर तिराहे पर स्थित प्रथमा बैंक से गांववालों को कई दिनों से कैश नहीं मिल पा रहा है।आज सोमवार को भी कैश न मिलने के कारण गुस्‍साए गांववालों ने बैंक के बाहर सड़क पर नेशनल हाइवे-24 पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने गांववालों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं हुए। एक हफ्ते पहले भी इसी बैंक के बाहर गांववालों ने जाम लगा दिया था। बैंक में कैश आने के बाद जाम खुल पाया था|