कल्बे जव्वाद, मोहसिन रजा आज के मीर जाफर हैं : आज़म खान

15
SHARE

शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद की ओर से लगाए गए आरोपों पर समाजवादी पार्टी नेता और पूर्व मंत्री आजम खान ने पलटवार किया है. कल्बे जव्वाद ने कहा था कि आजम खान के मंत्री रहते हुए एक शहर में वक्फ बोर्ड की जमीन में 400 करोड़ रुपए का घोटाला हुआ जिसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए.

 

 रामपुर में शुक्रवार को आजम खान ने कहा कि जब वो मंत्री थे तो कल्बे जव्वाद अपने दामाद को शिया वक्फ बोर्ड का चेयरमैन बनाने के लिए उनके पास आए थे. आजम खान के मुताबिक उन्होंने कहा था कि भ्रष्टाचार के आरोपों की वजह से उन्हें चेयरमैन नहीं बनाया जा सकता, हां अगर वो चुनाव लड़ कर बनना चाहें तो बन सकते हैं. आजम खान ने कहा कि जिस शख्स के पास नामजदगी का पर्चा भरने के लिए एक समर्थक ना हो वो चुनाव ही कैसे लड़ते, जीतना तो दूर की बात है. आजम खान ने कहा कि अब कल्बे जव्वाद उनसे दुश्मनी पर उतारू हैं.

आजम खान ने कहा कि बिना किसी चीज को प्रमाणित तौर पर साबित किए, उनकी छवि को बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है. आजम खान के मुताबिक उनका किसी वक्फ से व्यक्तिगत तौर पर कोई वास्ता नहीं है. रामपुर पब्लिक स्कूल की बनने वाली इमारत, अनाथालय और स्कूल ट्रस्ट की मिल्कियत है, व्यक्तिगत नहीं. आजम खान ने कहा, ‘हम बच्चे-बच्चियों को पढ़ाना चाहते हैं. खास तौर पर मुसलमानों के बच्चों से जहालत के अंधेरे को दूर करना चाहते हैं. हम इसके लिए हर कुर्बानी को तैयार हैं. हर बर्बादी को तैयार हैं क्योंकि हमारा दामन, जमीर, गर्दन सब कुछ पाक साफ है. हमने जो कुछ किया शिक्षा के लिए किया. हम इतिहास छोड़ कर जाएंगे आने वाली नस्लों के लिए. जो हमने किया इतना बड़ा कोई सोच भी नहीं सकता.’