मोदी-योगी की जोड़ी राम मंदिर का निर्माण जरूर कराएगी, बस वक्त का इंतजार: चंपत राय

42
SHARE

रविवार को विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय ने सरस्वती विद्या मंदिर में संवाददाताओं से कहा कि मंदिर निर्माण की तैयारी पूरी है, बस वक्त का इंतजार है। अयोध्या हिंदुओं की सांस्कृतिक राजधानी है और परिषद इसका स्वरूप बदलने नहीं देगी। विश्वास है कि मोदी-योगी की जोड़ी अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जरूर कराएगी।

चंपत राय ने याद दिलाया कि 1991 में मुस्लिम समाज के लोगों ने भारत सरकार को वचन दिया था कि यदि अयोध्या में मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाए जाने की घटना सिद्ध होती है तो वह स्वेच्छा से स्थल को छोड़ देंगे। अब जबकि खोदाई आदि से यह सिद्ध हो गया तो उन्हें मंदिर स्थल हिंदुओं को सौंप देना चाहिए। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से आग्रह किया कि वह जल्द से जल्द मुकदमे की सुनवाई करे। कश्मीर के खराब माहौल पर कहा कि वहां की एक-एक इंच जमीन हिंदुस्तान की है। माहौल आतंकियों ने खराब कर रखा है, बावजूद इसके अमरनाथ यात्रियों का उत्साह कम न होना यह सिद्ध करता है कि कश्मीर के मुद्दे पर हमारे इरादे को गोलाबारी रोक नहीं सकती।

चंपत राय ने बताया कि अपना इरादा जताने के लिए परिषद ने 28 जुलाई से पांच अगस्त के बीच बूढ़ा अमरनाथ यात्रा की योजना बनाई है। गौहत्या पर चंपत राय ने कहा कि मुस्लिम समाज को हिंदुओं की भावना को समझना चाहिए, वह हमारे लिए सिर्फ पशु नहीं बल्कि मां है। भारत सरकार को चाहिए कि वह इस पर पूर्ण प्रतिबंध लगाएं राज्यों पर न छोड़े। विश्व हिंदू परिषद 14 अगस्त को अखंड भारत दिवस मनाने जा रहा है। इसके पीछे मकसद आने वाली पीढ़ी 15 अगस्त के पहले के अखंड भारत का स्वरूप जाने और उसे वापस लाने के लिए इच्छा जागृत करे। 14 अगस्त हर नौजवान अखंड भारत का संकल्प जरूर ले।