मोदी बोले- जिंदगी में डिजिटल इकोनॉमी अपनाएं

11
SHARE
विंटर सेशन का शुक्रवार को आखिरी दिन है। इससे पहले बीजेपी पार्लियामेंट्री पार्टी की मीटिंग हुई। इस दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा, ”डिजिटल पेमेंट को भारतीयों की जीवन शैली बनना चाहिए, इससे ब्लैकमनी खत्म होगी।” अनंत कुमार ने बताया, ” पीएम ने मीटिंग में कहा कि पहले सत्ता पक्ष घोटाला करता था, आज सत्ता पक्ष ब्लैकमनी के खिलाफ काम कर रहा है” शुक्रवार को भी दोनों सदनों में हंगामा हुआ। लोकसभा में कार्यवाही शुरू होने के 5 मिनट के भीतर ही स्थगित करनी पड़ी। राज्यसभा में सभापति हामिद अंसारी ने सदन न चलने पर दुख जताया। इसके बाद राज्यसभा में भी कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।
12.28 PM:कांग्रेस सांसद केसी वेणुगोपाल राव ने कहा कि ये विधेयक दिव्यांगों के लिए है, इसलिए विपक्ष इसका समर्थन कर रहा है।
12.16 PM:निशक्त व्यक्ति अधिकार विधेयक चर्चा के बाद पास हुआ। पहले 7 कैटेगरी थी अब निशक्त व्यक्तियों की 21 कैटेगरी होंगी।
12.16 PM:अपोजिशन लीडर प्रणब मुखर्जी से मिलने राष्ट्रपति भवन पहुंचे।
12.03 PM:लोकसभा अध्यक्ष ने अपोजिशन के सभी स्थगन प्रस्ताव खारिज किए।
12.02 PM:लोकसभा की कार्यवाही शुरू।
11.26 AM:वेंकैया नायडू ने कहा, ” जिस कांग्रेस के शासन में इतने घोटाले हुए, वो क्या आज बदल गई है? जो कांग्रेस का साथ दे रहे हैं, उन्हें जनता को जवाब देना होगा।”
11.24 AM:वेंकैया बोले, कांग्रेस के शासन काल में 2जी, थ्रीजी, कॉमनवेल्थ जैसे घोटाले हुए हैं और उसी कांग्रेस के साथ विपक्षी पार्टियां पीएम के फैसले का विरोध कर रही हैं।
11.22 AM: केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा, जो विपक्षी पार्टियां कांग्रेस के साथ हैं, उन्हें जनता को जवाब देना होगा।
11.21 AM:राज्यसभा को अनिश्चित काल के लिए स्थगित किया गया।
11.20 AM:राज्यसभा में सभापति हामिद अंसारी ने कहा कि सभी पक्षों को आत्मनिरीक्षण करना चाहिए कि असहमति, हंगामे और वाद-विवाद के बीच क्या अंतर है।
11.10 AM:राज्यसभा में मौजूद हैं पीएम नरेंद्र मोदी।
11.05 AM:हंगामे के चलते 5 मिनट के भीतर कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।
11.00 AM: लोकसभा की कार्यवाही शुरू हुई।
बीजेपी संसदीय दल की बैठक में नरेंद्र मोदी ने कहा कि वांछू कमेटी ने इंदिरा गांधी को भी नोटबंदी की सलाह दी थी, लेकिन उन्होंने रिपोर्ट को दरकिनार कर दिया था। मोदी ने कहा कि पहले और आज के सत्ता पक्ष-विपक्ष में बहुत बड़ा अंतर है। पहले सत्ता पक्ष घोटाला करता था और विपक्ष एकजुट होकर इसका विरोध करता था। आज एनडीए भ्रष्टाचार और ब्लैकमनी खत्म करने के लिए लड़ रही है और विपक्ष इसका विरोध कर रहा है|”