‘मन की बात’ में PM मोदी ने कहा- आस्‍था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं, कानून दोषियों को सजा देकर रहेगा

45
SHARE

आज 35वीं बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को ‘मन की बात’ से संबोधित किया, पीएम मोदी ने गणेश उत्सव और ओणम की बधाई से कार्यक्रम की शुरुआत की|

डेरा हिंसा पर पीएम मोदी ने कहा कि आस्था ने नाम पर हिंसा बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि इस तरह की हरकतों को न तो देश और न ही कानून बर्दाश्त करेगा। कानून दोषियों को सजा देकर रहेगा।

पीएम ने कहा कि साल में शायद ही कोई ऐसा दिन होगा, जब कोई त्योहार न हो। उन्होंने गणेशोत्सव के साथ-साथ केरल में मनाए जा रहे त्योहार ओणम पर शुभकामनाएं दी। इस बीच पीएम ने ईद-उल-जुहा की भी बधाई दी।

पीएम ने कहा कि गांधी जयंती से 15 दिन पहले ही स्वच्छता की मुहीम चलाए। स्वच्छता ही सेवा है मुहीम इस कदर फैले कि गांधी जयंती पर पूरा देश चमकता दिखे।

पीएम ने लोगों के छोटे दुकानदारों के प्रति अड़ियल रवैये पर नाराजगी जताई। एक कॉलर की ओर से ये शिकायत उठाए जाने के बाद पीएम ने कहा कि जब आप शोरुम में मोलभाव नहीं करते हैं, तो किसी छोटे दुकानदार से मोलभाव क्यों करते हैं?