नाबालिग से रेप के आरोपी आसाराम को ताउम्र कैद की सजा

97
SHARE

नाबालिग से रेप के दोषी आसाराम पर जोधपुर कोर्ट ने इस मामले में आसाराम के साथ दो और लोगी को दोषी करार दिया गया है. इस मामले में कुल पांच लोग आरोपी थें, जिनमें दो लोगों को बरी कर दिया गया है.

आसाराम रेप केस में फैसला सुनाने के लिए कोर्ट जेल में ही लगा और वहीं फैसला सुनाया गया. पुलिस ने आसाराम रेप में उनके सेवादारों के ख़िलाफ़ नवंबर 2013 में चार्जशीट दाख़िल की थी. इस केस में कुल 58 गवाहों ने गवाही दी. आसाराम के ख़िलाफ़ जिन धाराओं में केस दर्ज किया गया उसमें उम्रक़ैद तक की सज़ा हो सकती है. प्रशासन ने सतर्कता बरतते हुए जोधपुर को किले में तब्दील कर दिया है. पूरे शहर में धारा 144 लागू है. पुलिस और सुरक्षाबलों के जवान फ़्लैग मार्च कर रहे हैं. हर आने-जाने वालों की तलाशी ली जा रही है. आसाराम के जोधपुर आश्रम को भी ख़ाली करा लिया गया है.

अदालत ने इस मामले में बाकी दो आरोपी हॉस्‍टल वॉर्डन शिल्‍पी और शरत हॉस्‍टल डायरेक्‍टर को 20-20 साल कैद की सजा सुनाई है, नाबालिग से रेप मामले में आसाराम को ताउम्र कैद की सजा, कोर्ट ने कहा, मृत्‍यु होने तक जेल में रहेगा.

आसाराम को दोषी करार दिए जाने के बाद कांग्रेस नेता अशोक गहलोत ने कहा कि अब समय आ गया है कि लोगों पहचनान होगा कि असली संत कौन है और नकली संत कौन है. इस तरह के मामले में अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर देश की छवि पर असर डालते हैं.

जोधपुर कोर्ट द्वारा आसाराम को दोषी करार देने के बाद पीड़िता के पिता ने कहा कि अब हमें न्याय मिला है. साथ ही उन लोगों को भी न्याय मिला है जिनका कत्ल कर दिया गया था या अपहरण किया गया था. मुझे पूरा भरोसा है कि अब आसाराम को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी. उन्होंने कहा कि मैं उन सभी लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने इस लड़ाई में मेरी मदद की और साथ खड़े रहे.

आसाराम के वकील ने कहा कि अभी अपने कोर्ट के फैसले की कॉपी नहीं मिली है इसलिए अभी कुछ भी नहीं कह पाउंगा. हमारी वकीलों की टीम ये देखेगी कि अदालत के इस फैसले को चुनौती दी जाए या नहीं. उन्‍होंने कहा कि हमारो पास सबूत थे कि पीड़िता की उम्र 18 साल से ऊपर है लेकिन उसकी गलत उम्र बताई गई. लड़की के बयान में कई विरोधाभास थे.

आसाराम के साथ हॉस्‍टल वॉर्डन शिल्‍पी और शरत हॉस्‍टल डायरेक्‍टर को कोर्ट ने दोषी करार दिया है. अदालत ने इस मामले में ने अडेंटेंडेट शिव और प्रकाश को बरी कर दिया है. आसाराम के प्रवक्‍ता नीलम दूबे ने कहा कि वह अपनी लीगल टीम से बात कर रहे हैं और आगे की कार्रवाई पर फैसला लेंगे. उन्‍होंने कहा कि हम न्‍यायपालिका पर पूरा विश्‍वास है.