मेरा बेटा मरा नहीं है…मां की जिद के बाद खोलनी पड़ी पोस्टमॉर्टम सील

33
SHARE
शहर में एक इंजीनियरिंग स्टूडेंट ने हॉस्टल में गुरुवार को सुसाइड कर ली। शव के पोस्टमार्टम के पहले मां मौके पर पहुंच गई और बोली ‘मेरा बेटा मरा नहीं है मुझे उसका चेहरा दिखाओ।’ उनकी जिद करने पर शव की सील खोलकर चेहरा दिखाया गया। चेहरा देखते ही मां बेहोश हो गई। मां ने कहा हमेशा हंसने वाला हमें कैसे रुला सकता है…
-ललितपुर के इलाइट चौराहा बसन्त बिहार कॉलोनी के रहने वाले अभिषेक कफारिया (22) झांसी के इंजीनियरिंग कॉलेज से इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की पढ़ाई कर रहा था।
– वह बीते 2 महीने से बीमार चल रहा था, जिसकी वजह से उसका कोर्स पिछड़ गया, दिवाली के बाद क्लास में उसके टेस्ट शुरू हो गए।
– अच्छा प्रदर्शन न कर पाने पर वह डिप्रेशन में चला गया। बीती गुरुवार की रात अभिषेक ने हॉस्टल में फांसी लगा ली थी।
-जिससे हालत बिगड़ने पर उसे रात में मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी।
– नवाबाद थाना पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था।
– मोर्चरी में पहुंची मृतक की मां को उसका शव देखने के बाद यकीन हुआ कि उसका बेटा अब इस दुनिया में नहीं रहा।
– मां रो-रोकर कहती रही कि ‘बेटा तूं तो सभी को हंसाया करता था, आज मुझे क्यों रुला रहा रहा।’
– मृतक अभिषेक के माता-पिता और रिश्तेदार का रो-रोकर बुरा हाल है।
– पोस्टमार्टम हाउस के अंदर से अभिषेक की मां और रिश्तेदारों को वहां के प्रशासन ने बड़ी मुश्किल से बाहर किया तब जाकर पोस्टमार्टम हुआ|