मायावती का विधायक दलित प्रदर्शन का ‘मुख्‍य साजिशकर्ता’: पुलिस

174
SHARE

दलितों के हिंसक प्रदर्शन से यूपी में दो लोगों की जान चली गई, जबकि 75 लोग घायल हो गए, यूपी पुलिस ने सुप्रीमो मायावती की पार्टी से राज्य विधानसभा में मेरठ के हस्तिनापुर का प्रतिनिधित्व करने वाले योगेश वर्मा को हिरासत में लिया गया है.

मेरठ के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मंजिल सैनी ने कहा कि योगेश वर्मा हिंसा का मुख्य षड्यंत्रकारी है. यूपी में मेरठ उन प्रमुख शहरों में से एक था, जहां हिंसा हुई थी. उत्तर प्रदेश में प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ भी जमकर झड़प हुई. इस हिंसा में दो लोगों की मौत भी हो गई. मेरठ और मुजफ्फरपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत की खबर आई. वहीं, इस हिंसा में कम से कम 45 पुलिसकर्मी घायल हो गए. सरकार ने 200 रैपिड एक्शन फोर्स कर्मियों को मेरठ भेजा. साथ ही पुलिस फोर्स को आगरा और हापुर भी भेजा गया.

मंजिल सैनी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदर्शनकारियों को संभालने के लिए पुलिस को खुली छूट दी हुई थी. इस हिंसा में शामिल करीब 200 लोगों को हिरासत में लिया गया है और उन पर नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. योगेश वर्मा भी उन 200 लोगों में शामिल है, जिन्हें हिरासत में लिया गया है. योगेश वर्मा पर कई मुकदमे दर्ज है, जिनमें हत्या की कोशिश से लेकर हिंसा फैलाने के मामले शामिल हैं.