मायावती पर चार करोड़ मांगने का आरोप लगा छोड़ी पार्टी

104
SHARE

मंगलवार को पूर्व ब्लॉक प्रमुख सर्वजीत ने बहुजन समाज पार्टी का दामन पार्टी सुप्रीमो पर आरोप लगाते हुए छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि बसपा सुप्रीमो ने टिकट के लिए चार करोड़ रुपये की मांग की थी। साथ ही स्वीकार किया कि उन्होंने जितना हो सका, उतना धन दिया। फिर भी टिकट काट दिया गया और बगल की विधानसभा के रहने वाले नेता को टिकट दे दिया गया। नगर के हिंदू इंटर कॉलेज में हुई सभा के दौरान सर्वजीत सिंह ने बसपा से अपना वर्षों पुराना नाता तोडऩे का एलान किया|

सर्वजीत सिंह को बसपा ने रुदौली विस क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया था, लेकिन अचानक फिरोज खान गब्बर की इंट्री होने के बाद बसपा ने उनका टिकट काटकर गब्बर को दे दिया। सर्वजीत सिंह के पार्टी छोडऩे के पीछे सबसे बड़ा कारण टिकट कटना ही माना जा रहा है। सर्वजीत ने पार्टी के कुछ पदाधिकारियों व वरिष्ठ नेताओं पर आर्थिक शोषण का आरोप लगाया। कहा, बसपा में ईमानदारी व मेहनत से कार्य करने वाले नेताओं के लिए कोई जगह नहीं है। सर्वजीत के साथ रुदौली की ब्लॉक प्रमुख शिल्पी सिंह, जिला पंचायत सदस्य पप्पू रावत, बिरजन सिंह जिला प्रभारी डॉ. संतोष रावत, हरिओम मिश्र पिंटू सहित बड़ी संख्या में उनके समर्थकों ने पार्टी छोड़ दी|