मायावती और मोदी की तुलना नहीं की जा सकती है, राहुल गांधी

54
SHARE
रविवार को सपा-कांग्रेस प्रेस कॉन्फ्रेंस ताज होटल में हुई।  राहुल गांधी ने इस कॉन्फ्रेंस में 5 बार नरेंद्र मोदी का नाम लिया। इतना ही नहीं राहुल गांधी ने अखिलेश की मौजूदगी में मायावती की तारीफ भी की। राहुल बोले, “मैं पर्सनली मायावती जी की बहुत रिस्पेक्ट करता हूं।” हालांकि, अखिलेश सीधे तौर पर नरेंद्र मोदी और मायावती का नाम लेने से बचते रहे। एक सवाल के जवाब में अखिलेश ने कहा, “मैंने पिछले कई दिनों से मायावती का नाम नहीं लिया है|”
सपा-कांग्रेस अलायंस की पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत ही राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी का नाम लेकर की। राहुल ने कहा, “मोदी जी के शब्दों में कहें तो सपा और कांग्रेस का अलायंस ट्रिपल पी है। यानी प्रोग्रेस, प्रॉस्पैरिटी और पीस|”
राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा, “सपा-कांग्रेस का अलायंस दिल का अलायंस है। हम संघ-बीजेपी को समझाएंगे कि सभी जातियां एक हैं। हम मोदी जी को दिखाएंगे कि यूपी बंटेगा नहीं।” राहुल बोले, “हम बीजेपी को ये दिखाएंगे कि आप इस देश के लोगों को बांट नहीं सकते, उन्हें सता नहीं सकते। हम यूपी के लोगों की भावनाएं बीजेपी को दिखाएंगे|”
राहुल ने कहा, “मायावती और मोदी की तुलना नहीं की जा सकती है। मायावती की सोच से देश को कोई नुकसान नहीं है। बीजेपी और मायावती जी में बहुत बड़ा फर्क है।बीजेपी क्रोध और गुस्सा फैलाती है। उनकी विचारधारा से हिंदुस्तान को खतरा है। मायावती जी की विचारधारा से नहीं।” राहुल बोले, “मैं निजी तौर पर मायावती जी और कांशी राम का बहुत सम्मान करता हूं|”
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक न्यूज चैनल के रिपोर्टर ने दावा किया कि उनका चैनल यूपी में नंबर वन है।इस सवाल के जवाब में राहुल ने कहा, “जैसे आप अपने आपको नंबर वन बता रहे हैं, वैसे ही मोदी जी भी खुद को नंबर वन बताते हैं।’राहुल बोले, “लेकिन आप अपने को नंबर 1 कहते हैं, फिर दूसरों को नंबर 2, 3, 4, 5 बताते हैं। लेकिन, मोदी जी कहते हैं मैं नंबर वन और नंबर टू कोई नहीं|’
1# कई दिनों से नहीं लिया “बुआ’ का नाम- अखिलेश
– प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल ने जहां खुलकर मायावती की तारीफ की और कई बार नरेंद्र मोदी का नाम लिया, वहीं अखिलेश सीधे तौर पर इन दोनों नामों को लेने से बचते रहे।
– रिपोर्टर ने सवाल पूछा कि आप मायावती को बुआ कहकर बुलाते हैं तो अखिलेश बोले, “मैंने कई दिनों से बुआ का नाम ही नहीं लिया है|”
2# मायावती को जगह नहीं दे सकते थे
– गठबंधन में बीएसपी के शामिल होने के सवाल पर अखिलेश बोले, “सपा-कांग्रेस के गठबंधन में मायावती जी को जगह कैसे दे देते? उनको बहुत जगह लगती है। उनका चुनाव चिह्न ही हाथी है। मैं और राहुल उन्हें जगह नहीं दे सकते थे|”
3# गर्मी, बरसात देख ली, अच्छे दिन देखे क्या?
– अखिलेश ने मोदी का नाम लिए बगैर तंज कसा, “गर्मी देख ली, बरसात देख ली। क्या किसी ने अच्छे दिन देखे? समाजवादी पार्टी ने काम करके दिखाया। हमारा काम बोलता है|”
4# उनकी टास्क फोर्स उन्हीं को पकड़ेगी
– एक रिपोर्टर ने सवाल किया कि बीजेपी ने कैराना मामले में टास्क फोर्स का गठन किया है।
– अखिलेश यादव ने जवाब दिया, “उनकी टास्क फोर्स उन्हीं को पकड़ेगी|”
5# मोदी जी को अपना विरोधाभास नहीं दिखता
– राहुल गांधी ने कहा, “मोदी जी कहते हैं कि मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ हूं, मेक इन इंडिया की बात करते हैं। लेकिन, इन सारी बातों में नीयत साफ नहीं है, ये सब घपले हैं।”
– “भ्रष्टाचार हटाने की बात करते हैं मोदी जी और पंजाब में गए सुखबीर बादल के साथ खड़े हो गए। मोदी जी को अपना विरोधाभास नहीं दिखता है ये फर्क है। कांग्रेस की नीयत साफ थी, हमने काम किया और कुछ कमियां रह गईं।”