महापंचायत में डायरेक्टर की जीभ काटने और अक्षय को पीटने का फरमान

87
SHARE

अक्षय कुमार और भूमि पेडणेकर स्टारर फिल्म ‘टॉइलट: एक प्रेम कथा’ के कुछ सीन पर मथुरा के संतों ने कड़ा विरोध जताया है। साथ ही महापंचायत में वृंदावन के चर्तुसंप्रदाय के महंत बाबा फूलडाल बिहारी दास ने घोषणा की है कि फिल्म के डायरेक्टर की जुबान काटने पर एक करोड़ का इनाम दिया जाएगा।

इसके अलावा महापंचायत ने फिल्म के हीरो अक्षय कुमार को पीटने का तुगलकी फरमान भी जारी किया। दरअसल, फिल्म में नंदगांव और बरसाना गांव के लड़का-लड़की की शादी दिखाए जाने को लेकर संतों में नाराजगी है। संतों के मुताबिक, फिल्म में कुछ दृश्यों के जरिये वर्षों से चली आ रही परंपरा को तोड़ा गया है, जिसके मुताबिक इन दो गांवों के लड़का-लड़की आपस में शादी नहीं कर सकते हैं। गौरतलब है कि इनमें से एक गांव भगवान कृष्ण और दूसरा राधा का है।

वहीं, संत समाज और स्थानीय गोस्वामी समाज के विरोध के बाद फिल्म निर्माता और निर्देशक बैकफुट पर आ गए हैं। फिलहाल, निर्देशक नारायण सिंह ने फिल्म के उस सीन, जिसमें नंदगांव और बरसाना के प्रेमी युगल की शादी का दृश्य फिल्माया गया है, उसमें नंदगाव का नाम कहीं न आने की बात कही है। साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए फिल्म की कहानी से भी लोगों को रूबरू कराया है। उनका कहना है कि फिल्म की कहानी महिला सशक्तिकरण और नायिका प्रधान है।

राष्ट्रवादी शिवसेना के अध्यक्ष और यूनाइटेड हिंदू फ्रंट के राष्ट्रीय महासचिव जय भगवान गोयल ने कहा है कि ‘टॉइलट: एक प्रेम कथा’ का सभी ब्रजवासी और हिंदू समाज विरोध करेगा। वह थिऐटरों में राधा-कृष्ण के पावन प्रेम को गलत ढंग से लोगों के सामने प्रस्तुत करने की अनुमति नहीं देगा।