जाट आंदोलन से मथुरा और आगरा बुरी तरह प्रभावित, ठप क‍िया भतरपुर-आगरा रेलवे ट्रैक

49
SHARE

शुक्रवार को जाट आंदोलन से मथुरा और आगरा बुरी तरह प्रभावित रहे। जाटों ने भतरपुर-आगरा रेल ट्रैक ठप कर दिया, जिस वजह से कई ट्रेनें प्रभावित हुई हैं। वहीं, आगरा-भरतपुर बॉर्डर पर यूपी रोडवेज की बस में भीड़ ने तोड़फोड़ की। इसके बाद यहां जाम लग गया। आम लोगों और पर्यटकों के सैंकड़ों वाहन यहां फंसे हुए हैं।

आगरा और मथुरा के जाट ने भी राजस्थान के जाटों का समर्थन किया है। जाट आरक्षण संघर्ष समिति के यशपाल मलिक का कहना है कि अगर जाटों को आरक्षण नहीं मिला तो यूपी में भी आंदोलन होगा। अभी तक हरियाणा को झुलसाने वाली यह आग राजस्‍थान पहुंची है।

मथुरा आरपीएफ थाना प्रभारी सत्‍येंद्र यादव ने बताया कि बजह-डींग के बीच रेलवे ट्रैक को जाट नेताओं ने रोका हुआ है। भरतपुर के बहज डींग के बीच रेलव ट्रैक जाम किए जाने से इलाहाबाद-जयपुर एक्‍सप्रेस को जयपुर रेलवे स्‍टेशन पर रोक दिया गया। एक मालगाड़ी को मथुरा स्‍टेशन पर रोका गया। कई मालगाड़ि‍यां रुकी हुई हैं। कुछ ट्रेनों का रूट बदला गया है।

दूसरी ओर आगरा-भतरपुर बॉर्डर पर जाट नेताओं ने जाम लगा दिया है। यहां पर शुक्रवार की दोपहर को जयपुर जा रही रोडवेज की बस में तोड़फोड़ की गई। इसके बाद सैंकड़ों वाहन आगरा सीमा पर रुके हुए हैं। जाट नेताओं का कहना है कि वे राजस्थान में गाड़ि‍यों को घुसने नहीं देंगे। भरतपुर के डीग विधानसभा क्षेत्र के विधायक विश्वेंद्र सिंह यहां जाट आंदोलन के एक गुट का नेतृत्व कर रहे हैं।

मथुरा के जाट नेता रत्नेश ने कहा कि वह राजस्थान में चल रहे आंदोलन को पूरी तरह समर्थन दे रहे हैं। उनके समर्थन में गोवर्धन के पास की रेलवे प‍टरियों पर भी कब्जा किया जा सकता है।